मंगलवार, 27 नवंबर 2012

सेहतनामा

सेहतनामा

(1)PARASITIC WORMS CAN TREAT CHRONIC DIARRHOEA

Researchers from the New York University Langone Medical Center in a study of monkeys found that parasitic worms could be used to successfully treat inflammatory bowel disease and restore gut bacteria to  a healthy state .The study was published in PLOS Pathogens.

(2)सिरका एक बेहतरीन रक्त प्रवाह रोधी ,त्वचा संकोचक है .Astringent है ,एक ऐसा पदार्थ है जो ऊतकों में

परस्पर एक तनन ,खिंचाव पैदा किए रहता है .

An astringent is a substance that draws tissues together ,

Sun Burns से बचाए रहता है ,नए साल पर गोआ जाने का मन है तो सिरका साथ में लेकर जाएँ .

(3)कील मुंहासों पर वाईट टूथ पेस्ट लगाके छोड़ दीजिये चंद घंटे चस्पां रहे यह पेस्ट (जैल  न हो ),सूख

जायेंगे कील मुंहासे .

(4)Low or high activity bad for knees:

घुटनों की हड्डियों के जोड़ों पर सुदृढ़ पदार्थ (उपास्थि या Cartilage ) के अपविकास (ह्रासी विकास )को पंख

लगा सकती है बहुत अधिक या बिलकुल न मालूम सी भौतिक हलचल ,फिजिकल एक्टिविटी .खासकर प्रौढ़

(मिडिल एज एडल्ट )सावधान रहें .

एक अभिनव अध्ययन के यही संकेत हैं पूर्व में केलिफोर्निया विश्वविद्यालय ,सैनफ्रांसिस्को ,के रिसर्चरों ने

भौतिक  हलचल ,फिजिकल एक्टिविटी और Cartilage degeneration में परस्पर एक अंतरसम्बन्ध का पता

लगाया था .

(5)होंठों को खुश्क (रुक्ष )होने से बचाइये

बस ऊंगली के पोर से थोड़ा सा देसी घी नाभि(belly button ,navel ) पे चुपड़ लें .होंठ नहीं फटेंगे सूखी हवा से

.गर्म चुपड़ी रोटी से

ऊँगली के पोरों से होंठों पर भी थोड़ा सा चुपड़ लें .चिकनापन होंठों का बना रहेगा .

5 टिप्‍पणियां:

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

उपयोगी जानकारी देने हेतु आभार भाई जी ,,,,

resent post काव्यान्जलि ...: तड़प,,,

शालिनी कौशिक ने कहा…

sirka v keel muhanson ko lekar aapki prastuti shayad yuvtiyon ke bahut kam aayegi.hamesha kee tarah aapki prastuti bahut upyogi hai .बधाई देर से ही सही प्रशासन जागा :बधाई हो बार एसोसिएशन कैराना .जिंदगी की हैसियत मौत की दासी की है

SM ने कहा…

its very difficult to get pure ghee
but nice health tip

रविकर ने कहा…

बढ़िया सन्देश |

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत ही उपयोगी सलाह..