शुक्रवार, 23 नवंबर 2012

बंद कार में धूम्रपान करने का मतलब

बंद कार में धूम्रपान करने का मतलब

Just 10 mins in a car with a smoker can be harmful

बच्चे बहुत दुर्बल और नाज़ुक होते हैं इन्हें जल्दी ही शारीरिक और मानसिक आघात पहुंचता है .बंद कमरों

कारों में बच्चों की मौजूदगी में धूम्रपान करना क़ानूनन धूम्रपान जन स्थानों पर न करने  के दायरे से बाहर

रह जाता है लेकिन यही सेकिंड हैण्ड स्मोक धूम्रपानी द्वारा उगला हुआ धुआं उनके लिए घातक बन जाता है

.बस दस मिनिट आप कार की अगली सीट पे बैठके धूम्र पान कर लीजिए जितना प्रदूषक बालक दिन भर में

झेलता है उसमें 30%इजाफा हो जाता है उसके कार की पिछली सीट पे बैठे बैठे .

रेस्तरा ,बार(शराब घर ),जूआ घरों में भी इतना प्रदूषण स्तर नहीं रहता जितना दस मिनिट के वक्फे में कार

में हो जाता है .एक अभिनव अध्ययन के यही नतीजे निकलें हैं .

अपने अध्ययन में रिसर्चरों ने तकरीबन 22 मर्तबा प्रदूषकों से गंधाती उस हवा का जायजा लिया था जो बंद

कार में कैद थी जिसमें घंटे भर में तीन सिगरेट फूंकी गईं  थीं ..

हर दफा उस प्रदूषक की मात्रा का भी हिसाब किताब रखा गया जो कार उत्सर्जित करती है हमारी हवा में

.सिगरेट से पैदा प्रदूषकों का भी आकलन किया गया हर बार .एक बार सामने की खिड़कियाँ बंद रखी  गईं

दूसरी मर्तबा 10 सेंटीमीटर इन्हें खुला रखा गया .जिस ऊंचाई पर पिछली सीट पे बैठा हुआ बच्चा सांस लेता

है उसी ऊंचाई पर प्रदूषकों का मानीटरन  (आकलन ,मापन ) किया गया .

वाहन के बाहर भी इन प्रदूषकों के स्तर को मापा गया .इनमें शामिल थे कणीय प्रदूषक (particulate matter

),polycyclic aromatic hydrocarbons (PAH),तथा कारबनमोनोऑक्साइड और निकोटिन .

PAH से असर ग्रस्त होने ,पीएएच प्रभावन का सम्बन्ध हमारे रोग रोधी प्रतिरक्षण तंत्र में पैदा होने वाली

खलल (और विक्षोभों )से जोड़ा गया है .

घर घर करते हुए सांस लेना बोले तो व्हीज़ ,बुद्धि कोशांक में बदलाव(IQ changes) तथा ALLERGIC

SENSITISATION

इस प्रभावन के आम दुष्प्रभाव बतलाये गए हैं .

सभी प्रेक्षणों में कार के अन्दर की हवा में प्रदूषकों का स्तर बाहर की हवा में मौजूद प्रदूषकों से तीन गुना

ज्यादा दर्ज़ किया गया था .

सन्दर्भ -सामिग्री :SCI-TECH  /MumbaiMirror ,NOVEMBER 23,2012/P19/Just 10 mints in a car

with a smoker can be harmful



5 टिप्‍पणियां:

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सच कहा है...उपयोगी जानकारी...

mahendra verma ने कहा…

धूम्रपान करने वालों के साथ यह जानकारी शेअर करूंगा।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

धूम्रपान तो हर हाल में हानिकारक है. बंद कार में तो दम ही घुट जायेगा.
और यदि कार गेरेज में बंद हो और ऐ सी चालू रहे तो जिंदगी एक आध घंटे की रह जाती है.

Madan Mohan Saxena ने कहा…

अद्भुत अहसास...सुन्दर प्रस्तुति बहुत ही अच्छा लिखा आपने

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़ी ही उपयोगी सलाह..