गुरुवार, 15 नवंबर 2012

नुसखे सेहत के

नुसखे सेहत के

(1)Mix a handfull of fresh dill leaves into boiling water ,strain ,and drink to treat hiccups or a

headache.

सौंफ की प्रजाति का एक पौधा होता है सोआ ,शत पुष्प या डिल .इस पौधे पर पीले फूल आते हैं इसकी

पत्तियाँ  और बीजों का इस्तेमाल इसकी ख़ास गंध और स्वाद के लिए पाक कला में किया जाता है .इसे एक

जड़ी बूटी के तौर पर कुछ  तरकारियों के साथ  डाला जाता है जिन्हें सिरके में रखा जाता है .

हिचकियाँ लगने या सर दर्द होने पर इसके पत्ते पानी में उबालके छानकर पानी को थोड़ा ठंडा करके पिए

आराम आयेगा .

(2)Suffer from bed breath ?Break a tiny bit from a star anise and suck on it .

Anise is a plant with seeds that smell sweet.

मुख बॉस (मुख दुर्गन्ध )से बचाव के लिए सौंफ के दाने चूसिये .दुर्गन्ध का नाश होगा ,सांस सुवासित होगी .

Aniseeds का इस्तेमाल एक स्वादवर्धक के रूप में कुछ खाद्य और पेयों में भी किया जाता है .

Star anise is a star shaped fruit consisting of 6 to 12 woody single seeded carpels and with an aniseed flavour .It is used in chinese cookery and medicine ,source of oil .It is an evergreen tree that yields star anise .

(3)Eating fresh turmeric can prevent heart attack and stroke (brain attack )by preventing the build up of arterial

plaque.

ताज़ी हल्दी का सेवन दिल और दिमाग दोनों के दौरे से बचाए रह सकता है .यह धमनियों को साफ़ रखता है

उसमें चिकनाई रूपा कचरा नहीं जमने  देता है .धमनी की अन्दर की दीवारें खुरदरी होने से बची रह सकतीं

हैं .

(4)कमल ककड़ी का सेवन श्वसनी तंत्र के लिए बड़ा मुफीद रहता है .यह खाद्य रेशों से भरपूर है तथा इसमें

संतृप्त वसाएं नाम मात्र को (कमतर )ही रहतीं हैं इसीलिए फेफड़ों की सेहत के लिए भी इसे अव्वल समझा

जाता है .फेफड़ों के बहुविध संक्रमण के कामयाब इलाज़ में यह कारगर रहता है .

Rich in dietry fibre and very low in saturated fat ,lotus root can strengthen the respiratory system

and treat lung illness .

(5)BABIES GIVEN PARACETAMOL MAY DEVELOP ASTHMA

According to researchers at the University of Copenhagen ,the more often paracetamol is given in the first year of life ,the more likely they are to develop breathing problems .However ,the researchers say it does not prove cause and effect.

उम्र के पहले बरस में शिशुओं (0-2 साला )को जितना अधिक बार ज्वर नाशी दवा पैरासीटामोल  दी जाती है

,उतनी ही ज्यादा संभावना इनके श्वसन सम्बन्धी समस्याओं की चपेट में आने की बनी रहती है भले इसे

कार्य -कारन सम्बन्ध  के रूप में न लिया जाए .दमा के जोखिम का वजन तो बढ़ता ही है .


                                                     (2)


Brain linked to diabetes ,hope for new treatment 


In the first study of its kind involving 12,535 individuals ,including 

Dravidians ,scientists from CSIR and AIIMS ,have found a 

neurological link to Type 2 diabetes(T2D) .It might lead to a new 

line of targeted treatments.

अभी तक यही समझा जाता था की मधुमेह एक तरफ एक आनुवंशिक आधार लिए होता है,एक  जीवन



शैली से जुड़ा रोग

है जिसमें खून में शक्कर का स्तर बढ़ा हुआ रहता है अब पता चला है इसकी नव्ज़  हमारे दिमाग से भी जुड़ी


हो सकती है .

एक मेगा स्टडी में (बड़े पैमाने पे किए गए विशाल )अध्ययन में भारतीय विज्ञानियों की एक टीम ने T2D

का

एक स्नायुवैज्ञानिक सेतु(Neurological link ) ढूंढ निकाला है .

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के संस्थान -Institute of Genomics and Integrative  Biology  

के प्रमुख विज्ञानी द्वैय्पायन भारद्वाज की देखरेख में 37 विज्ञानियों की एक टीम ने जिसमें अखिल

भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान के निखिल टंडन भी शामिल रहें हैं भारोपीय (Indo-Europeans)  द्राविड़ 'जाति

के प्रतिनिधिक समुदायों का अध्ययन किया है .

'
"We have identified a new locus associated with T2D .It harbours genes TMEM163 ,RAB3GAP1

and ACMSDI -which are involved in neurological processes ,suggesting a neurological component

in T2D,"said  the scientists reporting their findings in Diabetes journal of the American Diabetes

Association .They added that studies were conducted on ,12,535 individuals .'

विज्ञानियों ने दिमाग में ऐसे स्थलों का पता लगाया है जो तीन जीवन खंडों को पनाह दिए  हैं जो

स्नायुवैज्ञानिक

प्रक्रियाओं में शिरकत करते हैं तथा इनकी गतिविधियों

के प्रमुख स्थल हैं .इनका सम्बन्ध T2D से जोड़ा गया है .इस अध्ययन के नतीजे जिसमें 12,535 लोगों को

शरीक किया गया था अमरीकी मधुमेह संघ के प्रमुख जर्नल (प्रपत्र )में प्रकाशित हुए हैं .

1st genome study for diabetes 

 द्वैपायन भारद्वाज कहतें हैं यह अपनी ही   तरह का  अब तक का पहला अध्ययन है जिसमें आरंभिक

चरण में

तकरीबन 2,465प्रतिभागियों के genome scan लिए गए .

Genome :जीनोम एक कोशिका या सजीव में स्थित सम्पूर्ण जीन -समुच्चय को कहा जाता है .

Genome is a complete set of genes in a cell or living thing.

Genome is the full complement of genetic information that an individual organism inherits from its

parents ,especially a set of chromosomes and the genes they carry .

इसके बाद टॉप सिग्नलों की  हु -बा -हू प्रतिकृति (नकल) तैयार की गई दो ऐसे प्रतिनिधिक जातीय

समुदायों में जिनमें 7,221भारोपीय तथा 2,849 द्राविड शामिल थे .ये दोनों समुदाय अपनीअपनी  विशिष्ठ

 आनुवंशिक विविधता लिए हुए हैं .

डॉ .निखिल टंडन कहतें हैं फिलवक्त दुनिया भर में कोई एक अरब लोग T2D से ग्रस्त हैं .इस अध्ययन से

एक अभिनव इलाज़ का रास्ता साफ़ हो गया लगता है .आप स्रावीतंत्रविज्ञान  विभाग के मुखिया हैं .

ENDOCRINOLOGY के प्रोफ़ेसर हैं .

4 टिप्‍पणियां:

madhu singh ने कहा…

सौंफ,सोआ,हल्दी,कमल ककड़ी ki upyogitao ke sath पैरासीटामोल ke balykal me sevan se hone vala nuksan,

In the first study of its kind involving 12,535 individuals ,including

Dravidians ,scientists from CSIR and AIIMS ,have found a

neurological link to Type 2 diabetes(T2D) .It might lead to a new

line of targeted treatments.

अभी तक यही समझा जाता था की मधुमेह एक तरफ एक आनुवंशिक आधार लिए होता है,एक जीवन



शैली से जुड़ा रोग

है जिसमें खून में शक्कर का स्तर बढ़ा हुआ रहता है अब पता चला है इसकी नव्ज़ हमारे दिमाग से भी जुड़ी


हो सकती है .

एक मेगा स्टडी में (बड़े पैमाने पे किए गए विशाल )अध्ययन में भारतीय विज्ञानियों की एक टीम ने T2D

का

एक स्नायुवैज्ञानिक सेतु(Neurological link ) ढूंढ निकाला है .

वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के संस्थान -Institute of Genomics and Integrative Biology

के प्रमुख विज्ञानी द्वैय्पायन भारद्वाज की देखरेख में 37 विज्ञानियों की एक टीम ने जिसमें अखिल

भारतीय आयुर्वेदिक संस्थान के निखिल टंडन भी शामिल रहें हैं भारोपीय (Indo-Europeans) द्राविड़ 'जाति

के प्रतिनिधिक समुदायों का अध्ययन किया है .

'
"We have identified a new locus associated with T2D .It harbours genes TMEM163 ,RAB3GAP1

and ACMSDI -which are involved in neurological processes ,suggesting a neurological component

in T2D,"said the scientists reporting their findings in Diabetes journal of the American Diabetes

Association .They added that studies were conducted on ,12,535 individuals .'

विज्ञानियों ने दिमाग में ऐसे स्थलों का पता लगाया है जो तीन जीवन खंडों को पनाह दिए हैं जो

स्नायुवैज्ञानिक

प्रक्रियाओं में शिरकत करते हैं तथा इनकी गतिविधियों

के प्रमुख स्थल हैं .इनका सम्बन्ध T2D से जोड़ा गया है .इस अध्ययन के नतीजे जिसमें 12,535 लोगों को

शरीक किया गया था अमरीकी मधुमेह संघ के प्रमुख जर्नल (प्रपत्र )में प्रकाशित हुए हैं .

1st genome study for diabetes

द्वैपायन भारद्वाज कहतें हैं यह अपनी ही तरह का अब तक का पहला अध्ययन है जिसमें आरंभिक

चरण में

तकरीबन 2,465प्रतिभागियों के genome scan लिए गए .

Genome :जीनोम एक कोशिका या सजीव में स्थित सम्पूर्ण जीन -समुच्चय को कहा जाता है .

Genome is a complete set of genes in a cell or living thing.

Genome is the full complement of genetic information that an individual organism inherits from its

parents ,especially a set of chromosomes and the genes they ...... vah sir ji,bahut sundar aur vyavharik jivan se judi atyant upyoi tatha sarthak prastuti

Amrita Tanmay ने कहा…

एक सम्पूर्ण जानकारी से भरा पोस्ट.. अति सुंदर...

Amrita Tanmay ने कहा…

एक सम्पूर्ण जानकारी से भरा पोस्ट.. अति सुंदर...

रविकर ने कहा…

बढ़िया प्रस्तुति ।

आभार वीरू भाई जी ।।