मंगलवार, 26 फ़रवरी 2013

Pill-free ways to keep your blood pressure in check this summer

PRESSURE IN CONTROL 

Here are 10 pill -free ways to keep your blood pressure in check 

this summer

(1)DRINK COCONUT WATER 

नारियल पानी के प्रत्येक २ ० ओंज में १ ५ ० ० मिलीग्राम पोटेशियम रहता है .नारियल पानी में मौजूद तत्व केन्द्रीय  स्नायुविक तंत्र (Central nervous system )को शांत रखने में मददगार सिद्ध होते  हैं . .व्यस्तता बहुत अधिक हो जाने पर यह धमनियों को नुक्सान पहंचाने वाले बढे हुए रक्तचाप से राहत दिलवाते हैं  .

अध्ययनों से पता चला है ७ १ फीसद लोगों में यह उच्च रक्त चाप को ११ पाइंट कम करने में सहायक सिद्ध होता है .

(२)SEASON WITH SESAME OIL 

तिल के तेल में स्वास्थ्य वर्धक बहु -असंत्रिप्त  वसीय अम्ल (HEALTHY POLYUNSATURATED FATTY ACIDS) मौजूद रहते हैं .इसमें बहुत ख़ास यौगिक भी रहतें हैं जिन्हें SESAMIN COMPOUNDS कहा जाता है .दोनों का संयुक्त  असर रक्त वाहिकाओं की दीवार को शिथिल करता है फलतय :उच्च रक्त चाप में आने वाली आकस्मिक बढ़ोतरी (उछाल,SPIKES ) कम हो जाती है .राईस और सलाद की ड्रेसिंग के अलावा (चावल और सलाद पे इसे छिड़क सकते हैं )इसमें खाना पकाइए .

(३)COOK WITH CARDAMOM 

जिन लोगों को हाइपरटेंशन रहता है वह अपनी खुराक में आधा चम्मच छोटी इलायची कूट पीसके किसी भी विध शामिल करें .१ २ हफ़्तों में रक्त चाप को सामान्य करने में मदद मिलेगी . 

Cardamom is a slightly citrusy flavoured  spice ,which is packed with plant compounds that keep the muscles of your heart and arteries relaxed ,so pressure surges are less likely to occur. 

(४)DRINK TEA GENEROUSLY 

बिना दूध की चाय (Black Tea) बेहद हाइप की गई ग्रीन टी से भी बेहतर है .इसमें धमनी को शिथिल (relax )रखने वाले ज़रूरी एंटीओक्सिडेंट मौजूद रहतें हैं .टी बेग्स को चार पांच बार डिप करके इस्तेमाल करें फिर निकाल दें .

दिन भर तीन बड़े मग चाय पीजिये (तकरीबन ३६ ओंज ).हाइपरटेंशन के खतरे का वजन ६ ५ %कम हो जाएगा . 

(   ज़ारी ......)


7 टिप्‍पणियां:

पुरुषोत्तम पाण्डेय ने कहा…

रक्त चाप के कई लाक्षणिक कारण होते हैं, मुख्यत: धमनियों के अन्दर वसा की पर्त जमने से ये 'साइलेंट किलर'पैदा हो जाता है. इलाइची का व काली चाय का अनुभूत प्रयोग तो अच्छा उपयोगी होगा साथ ही सर्पगंधा की गोलिया नियमित लेने से इस विकार में बहुत राहत मिलती है. लोगों को जागृत करने के लिए आपका ये लेख बहुत प्रशसनीय है.

Aziz Jaunpuri ने कहा…

सर जी ,नव चेतना का संचार करती और
जनमानस का मार्गदर्शन करती सुन्दर
प्रस्तुति

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति बुधवारीय चर्चा मंच पर ।।

Rajendra Kumar ने कहा…

उपयोगी मार्गदर्शन करती प्रस्तुति.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत ही उपयोगी सलाहें़़

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

बहुत आसान उपाय, प्रयोग करने में भी कोई झंझट नहीं-आभार!

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) ने कहा…

सरल और घरेलू उपाय बताने के लिए हृदय से आभार