शनिवार, 8 दिसंबर 2012

प्रेक्षण में लिया गया है एक गर्भस्थ सितारा

हाल ही में एक सितारे को प्रसव पूर्व ही खगोल विज्ञानियों ने अपने प्रेक्षण में लिया है जो अभी भ्रूणीय अवस्था (embryonic  stage ) में ही है . खगोल विज्ञान के माहिरों के अनुसार इससे हमारे सौरमंडल के निर्माण की गुत्थी सुलझाने में बूझने में मदद मिल सकती है .

आखिर कैसे विशालकाय धूल  और गैस का बादल सितारा बन जाता है . समझा जाता है यह अब तक का प्रेक्षण में आया पहला ऐसा गैस और धूल  का घूमता हुआ बादल swirling disk of dust and gas है जो एक अब तक का सबसे युवा तारामंडल (सौर मंडल )है जो अभी अपने निर्माण की प्रावस्था में ही है .

समझा जाता है बा -मुश्किल यह गर्भस्थ शिशु तारा  तीन लाख बरस पुराना है .जबकि हमारे सौर मंडल की अनुमानित आयु 4.6 अरब बरस आंकी गई है . हमारी पृथ्वी  से कोई 450 प्रकाश वर्ष की दूरी पर यह निर्माण के के आरंभिक चरण को भुगता रहा है .इसे वृषभ तारामंडल (नक्षत्र मंडल , Taurus  Constellation ) में प्रेक्षण में लिया गया है .

माहिरों के अनुसार इस शिशु तारे की उम्र और भी कम हो सकती है इसका फैसला इस बात से होगा कि अतीत में इसने अपने आसपास से कैसे धूल  और गैस की द्रव्य राशि बटोरी .

नेशनल रेडिओ एस्ट्रोनोमी वेधशाला ,पश्चिमी वर्जिनिया में   हबल छात्रवृत्ति पर शोध रत ताराविज्ञानी जॉन टोबिन का यही कहना है .

The star is expected to pull in  material from its surroundings to eventually match it .The disk surrounding it contains at least enough 'stuff ' to make seven Jupiters ."This very young object has all the elments of a solar system in the making ,"Tobin said.

इस शिशु सितारे को  L1527 IRS   कहा        जा रहा है जो  की  वृषभ  मेघ   में     अवस्थित है .इसे सितारों की नर्सरी कहा जाता है .          

5 टिप्‍पणियां:

madhu singh ने कहा…

Sir Ji,gyan sarita ko nitantar prawahit kar jan jan ko apne gyan se anupranit karne rahne ka nammr anurodh

Rohitas ghorela ने कहा…

बहुत अच्छी भूगौलिक जानकारी मिली ... निश्चय ही इस competition के ज़माने में काम आने वाली है ...

आभार !!

रचना दीक्षित ने कहा…

"प्रेक्षण में लिया गया है एक गर्भस्थ सितारा" यह शीर्षक पढकर समझ नहीं आया कि इस लेख में क्या होगा परन्तु पढकर थोडा आश्चर्य भी हुआ कि शोधार्थी कहाँ कहाँ तक पहुँच रहें है. सचमुच यह ब्रह्माण्ड के निर्माण को समझने में कुछ और प्रकाश डालेगा.

varun kumar ने कहा…

BAHUT ACCHA..ek baar ise bhi jarur padhen....
अबे तू खान्ग्रेसी है क्या ?नहीं हैं तो यह पोस्ट पढ़ यदि हैं तो खिसक ले वर्ना अपनी पोल अपने आगे खुलता देखेगासनातन ब्लोगर्स वर्ल्ड

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सितारों की रहस्मय दुनिया ... क्या सच क्या झूठ ... पर बहुत रोमांचित करता है ...