शनिवार, 22 दिसंबर 2012

आरोग्य प्रहरी


आरोग्य प्रहरी 

(1)आधा शीशी का पूरा सर दर्द जिसे होता है वही  उसकी तीव्रता को बूझ पाता है .संकीर्ण या बंद स्थान में 

सीमित होने का भय बोले तो संवृत -स्थान भीती यानी claustrophobia भी खासी भीती पैदा करता है इससे 

असरग्रस्त लोगों में .

दोनों का आसान समाधान है ग्रीन एपिल सूंघ लीजिये .

Sniff a green apple for instant relief from migraine and claustrophobia

(2)To stop wound from bleeding ,sprinkle powdered pepper on it .

मुझे याद है बचपन में जब छोटा था लालो कुतिया होती थी हमारे मोहल्ले में उसने मेरे हाथ पे काट लिया था 

ऊँगलियाँ खून से तरबतर हो गई थीं माँ ने लाल मिर्ची का पाउडर (कुटी हुई लाल मिर्ची लगा दी थी ),हम डरके 

चुप हो गये थे .

बाद इसके पेट में सुइयां भी लगी थी 12 .तब बड़ी  तकलीफ देय होतीं थीं ये सुइयां .अब तो एकल शॉट से भी 

काम चल जाता है घाव को पहले फ़टाफ़ट कपडे धौने वाले साबुन /न हो तो किसी भी दूसरे  साबुन से धोया जाता 

है .

(3)STROKE DRUG KILLS BUGS ULCERS ,TUBERCULOSIS 

A drug called ebselen used in treating ischemic strokes (ischemic brain attack )-when an artery to the 

brain is blocked -effectively inhibits the thioredoxin reductase system in a wide variety of bugs , 

including H pylori , which causes gastric ulcers ,and Mycobacterium tuberculosis , which causes 

tuberculosis.

(4)

Ideal drink for kids: 2 cups of cow milk a day 

साइंसदानों के मुताबिक़ ज्यादातर नौनिहालों को दिन भर में दो कप गाय का दूध देना शरीर में विटामिन D

और लौह तत्व आयरन के ज़रूरी स्तर को बनाए रखने के लिए एक दम से पर्याप्त और सटीक रहता है . इससे

कम न इससे ज्यादा .

रिसर्चरों ने 2-5 साला 1300 नौनिहालों पर अपना अध्ययन केन्द्रित रखते हुए इस बात की पड़ताल की है कि

कैसे दूध में मौजूद पुष्टिकर तत्वों में से यह दो पुष्टिकर तत्व शरीर में विटामिन D लौह तत्व के भंडारण को

प्रभावित करते हैं .

पता चला जो बच्चे इससे ज्यादा गाय के दूध का नित सेवन कर रहे थे उनके शरीर में विटामिन Dका स्तर तो

पर्याप्त  बना हुआ था लेकिन लौह तत्व आयरन का कमतर रह गया था .

लेकिन इन दोनों पोषक तत्वों का यथेष्ट स्तर बनाए रखने के लिए दो कप दूध का नित्य सेवन यथेष्ट पाया


गया .


इससे ज्यादा मात्रा में नित्य दूध लेने से लौह तत्व का स्तर और कम देखा गया जबकि विटामिन D के संग्रह में

कोई ख़ास सुधार भी नहीं देखा गया .

2008-2010 के बीच तंदरुस्त नौनिहालों को रूटीन देखभाल के दौरान ही अध्ययन हेतु नियुक्त किया गया   .

पता यह भी चला कि अधिक काली चमड़ी वाले नौनिहालों में Darker skin pigmentation धारकों में  सर्दी के

महीनों में

विटामिन D की कमी हो जाती है .

(5 )SLEEPING PILLS OWE HALF THEIR BENEFITS TO 

PLACEBO EFFECT

Researchers analysed results from clinical trials of the most common type of sleeping tablets and found

that half of the benefit of taking the pills comes from the placebo effect .Some health experts have

questioned whether the benefits justify their side effects ,which can include memory loss ,fatigue and

impaired balance.

नींद की गोली खाने वाले लोगों पर किये गए एक हालिया अधययन से विदित हुआ है कि ज्यादातर  लोगों को

नींद इस ख्याल से आ जाती है कि उन्होंने नींद लाने वाली गोली खाली है भले उन्हें छद्म गोली (उदासीन

निष्क्रिय रसायन या फिर मीठी गोली )ही खिला दी जाए .जबकि ऐसी गोलियों के अवांछित प्रभावों में शामिल हैं

याददाश्त क्षय ,थकान ,और संतुलन कायम रखने में कमी बेशी .

Placebo :Placebo is  a  prescription without physical effect  something prescribed for a patient that

produces a psychological improvement rather than having a physical effect.

Placebo is an inactive substance a preparation having no active ingredients given to a patient

participating in a clinical trail in order to assess the performance of a new drug .

Placebo effect :A sense of benefit felt by a patient that arises solely from the knowledge that treatment

has been given .

(6 )खूबानी  में मौजूद रहता है सेलुलोस (वनस्पतियों की कोशिका की दीवार को बनाने वाला

एक कुदरती पदार्थ

)और Pectin (पादप कोशिका की दीवारों में पाया जाने वाला polysaccharides मिश्रण )जो कब्ज़ को दूर करने में

कारगर सिद्ध होता है ,पाचन में मददगार .

(7 )Hummus is a powerhouse of iron ,manganese ,copper ,vitamin 

B6 ,folic acid ,amino acids and 

omega three fatty acids.

बतलादें आपको हमस ब्रेड स्प्रेड के बतौर भी खाया जाता है .

Hummus is a Middle Eastern dip made with mashed chicpeas(छोटी मटर की फलियाँ ),tahini ,oil ,lemon

juice ,and garlic ,combined into a thick paste.

Tahini is an oily paste made from crushed sesame seeds (पिसे हुए तिलों से तैयार पेस्ट ).

(8 )खाना हमेशा खुश होकर पकाइये कुढ़ फुंक  कर कुपित होकर नहीं ,हमेशा सकारात्मक रहें ,पाजिटिव माइंड

फ्रेम में रहें

खाना पकाते वक्त ,तनाव ग्रस्त रहकर पकाने पर रिणात्मक ऊर्जा पकाए गए भोजन में अंतरित हो जाती है .

(9 )यदि ठंड और सूखी हवा से होंठ फट गए हैं ,शहद लगाइये ,ठोड़ी देर बाद ताज़ा पानी से धौ डालिये .



(10 )TODDLER'S LANGUAGE SKILLS CAN PREDICT FUTURE ANGER

Toddlers with more developed language skills are able to manage frustration and less likely to express

anger by the time they are in school .That is the conclusion of a new study from researchers at the

Pennsylvania State University that appears in the journal Child Development.

MUST READ 



College girl dies after horror at BF's hand 

17-year-old's boyfriend inserted a screwdriver into her vagina to 

bring her delayed periods

किशोरावस्था में लड़कियों  की माहवारी हारमोन की घटबढ़ होने से खासकर  के यौन सक्रीय होने के शुरूआती

दौर में दो चार दिन आगे पीछे हो जाती है .हफ्ता दस दिन भी .

इस किशोरी के मामले में भी ऐसा ही हुआ था लेकिन उसके अपढ़ गंवार दोस्त ने अपनी ही तरकीब निकाली

रुकी हुई माहवारी को खोलने की .उसने एक स्क्रू  ड्रावर वेजिनल ट्यूब में डाल  के घुमा दिया .मानो माहवारी की

डाट (ढक्कन )खोल रहा हो .

महाराष्ट्र के थाणे जिले की इस किशोरी को लगातार बने रहने वाले ज्वर और उदर शूल की शिकायत के साथ

सुराणा  सेठिया अस्पताल चेम्बूर ,मुंबई में दाखिल करवाया गया .

डॉक्टर्स लड़की के रोग निदान का पता करने की झख एक हफ्ता मारते रहे .लेकिन हाथ कुछ न लगा .लड़की  ने

डर  और अज्ञानता की वजह से वारदात को छिपाए रखा .

अस्पताल में दाखिल करने से पहले उसके पिता ने उसे एक स्थानीय क्लिनिक में दिखाया जहां उसे इंट्रा वीनस

फ्लूइड (आम भाषा में ड्रिप लगा दी गई ,अंत:शिरा तरल )  के साथ एंटीबायटिक दवाओं पे भी रखा .थोड़ा आराम

आने के बाद उसे ही फिर तकलीफ हुई .

सात दिसम्बर को उसके साथ वह स्क्रू ड्रावर करामात हुई 12 दिसंबर को उसे भयंकर तकलीफ होने पर सुराणा

अस्पताल चेम्बूर में दाखिल करवा पड़ा .

डॉक्टरों ने शुरू में यही सोचा इसे कोई पेट की या फिर गैस सम्बन्धी शिकायत है .कई परीक्षणों के अलावा उसके

उदरीय क्षेत्र का  एक्स रे भी किया गया .पता चला आमाशय  में गैस(वायु ) भरी हुई है .शक हुआ उदरआंत्र  क्षेत्र

में छिद्रण हुआ है (gastrointestinal perforation ).

लड़की की हालत गंभीर बनी हुई थी उसका हिमोग्लोबिन स्तर मात्र  6ग्राम प्रति डेसीलिटर था जबकि एक

तंदरुस्त युवती  के लिए यह (12.1-15.1)ग्राम /डेसीलिटर होना चाहिए .उसे तीन यूनिट खून चढ़ाया गया .

14 दिसंबर को छिद्रण बंद करने के लिए उसकी लपरोटमि  की गई (Laparotomy to close perforations ).

Laparotomy is a surgical incision through the abdominal wall made to allow investigation of an

abdominal organ or diagnosis of an abdominal disorder.

पता चला छिद्रण तो है  नहीं बच्चेदानी (गर्भाशय )और उसके गिर्द के अंगों में मवाद भरा हुआ है .माहिरों के लिए

इस सेप्टिक का स्रोत तब तक अनुमेय ही बना रहा जब तक लड़की  ने मौत से पहले सारा राज खुद ही  खोल न

दिया

.लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी .

बकौल डॉ .जीतेन्द्र चौधरी (Laparoscopic surgeon ) लड़की के गर्भाशय से खून रिस रहा था जिसकी कोई ज्ञात

वजह नहीं थी .

अब माहिरों ने स्त्री रोगों की एक माहिरा ,विशेषज्ञा  को बुलाया .पता चला योनी में  जगह जगह  व्यापक स्तर

पर  घाव बने हुए हैं

.जिनमें संक्रमण फ़ैल चुका है .

माहिरों के सलाहमशविरा करने के बाद लड़की  ने डरते डरते सारी वारदात बयाँ कर दी जिसका उसके माँ बाप को

कोई इल्म नहीं था .

लड़की को गर्भ भी नहीं ठहरा था .महज़ भय ने अज्ञान के अँधेरे ने ,माँ बाप और किशोरी के बीच दूरी ने।युवक

की अनभिज्ञता और धूर्तता ने  लड़की

की जान ले ली .लडका उसे अस्पताल देखने तक नहीं आया .ऐसे होतें हैं "बॉय फ्रेंड "?

मामला नौपाडा पुलिस के पास है .पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है .तह तक पहुँचने के बाद ही लड़के को

धर दबोचा  जाएगा ताकि सनद  रहे :परले दर्जे के मूर्ख भी होते हैं "बॉय फ्रेंड ".

यह मामला जन संचार  के अभाव का है आज सब कुछ नेट पे उपलब्ध है ब्लॉग पे आ रहा है लेकिन जिन्हें इस

जानकारी की सबसे ज्यादा ज़रूरत है वहां तक कुछ भी नहीं पहुँच रहा है .

हमारे किशोर किशोरियां यौन सक्रीय हैं .संक्रमण का दौर अब रुकने वाला नहीं है ज़रुरत संचार के चौतरफा

सेतुखड़े करने की है . वर्जना की दीवारों को गिराने की है .सेक्स के बारे में हम सलाह नहीं देते अपने नौनिहालों

को कब तक हम ऐसा करेंगे ?

WE CAN NOT AFFORD A DEFICIT MODEL OF COMMUNICATION .

सन्दर्भ -सामिग्री :-College girl dies after horror at BF's hand /MumbaiMirror/DECEMBER 22,2012,P2

www.mumbaimirror.com/city

नोट :अगली क़िस्त में पढ़िए 'कैसे रिलीज़ करें रुकी हुई माहवारी को ,पता लगाएं आरम्भिक गर्भावस्था का '?







4 टिप्‍पणियां:

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत सि काम की जानाकारी मिली।

शालिनी कौशिक ने कहा…



very useful post thanks भारतीय भूमि के रत्न चौधरी चरण सिंह

पुरुषोत्तम पाण्डेय ने कहा…

हमेशा की तरह ही ये लेख भी सेहत के लिए उपयुक्त जानकारी देते हुए लिखा गया है. साधुवाद.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़े ही रोचक निदान...