शुक्रवार, 21 दिसंबर 2012

सेहतनामा


सेहतनामा 

Ideal drink for kids: 2 cups of cow milk a day 

साइंसदानों के मुताबिक़ ज्यादातर नौनिहालों को दिन भर में दो कप गाय का दूध देना शरीर में विटामिन D

और लौह तत्व आयरन के ज़रूरी स्तर को बनाए रखने के लिए एक दम से पर्याप्त और सटीक रहता है . इससे

कम न इससे ज्यादा .

रिसर्चरों ने 2-5 साला 1300 नौनिहालों पर अपना अध्ययन केन्द्रित रखते हुए इस बात की पड़ताल की है कि

कैसे दूध में मौजूद पुष्टिकर तत्वों में से यह दो पुष्टिकर तत्व शरीर में विटामिन D लौह तत्व के भंडारण को

प्रभावित करते हैं .

पता चला जो बच्चे इससे ज्यादा गाय के दूध का नित सेवन कर रहे थे उनके शरीर में विटामिन Dका स्तर तो

पर्याप्त  बना हुआ था लेकिन लौह तत्व आयरन का कमतर रह गया था .

लेकिन इन दोनों पोषक तत्वों का यथेष्ट स्तर बनाए रखने के लिए दो कप दूध का नित्य सेवन यथेष्ट पाया


गया .


इससे ज्यादा मात्रा में नित्य दूध लेने से लौह तत्व का स्तर और कम देखा गया जबकि विटामिन D के संग्रह में

कोई ख़ास सुधार भी नहीं देखा गया .

2008-2010 के बीच तंदरुस्त नौनिहालों को रूटीन देखभाल के दौरान ही अध्ययन हेतु नियुक्त किया गया   .

पता यह भी चला कि अधिक काली चमड़ी वाले नौनिहालों में Darker skin pigmentation धारकों में  सर्दी के

महीनों में

विटामिन D की कमी हो जाती है .

(2)SLEEPING PILLS OWE HALF THEIR BENEFITS TO 

PLACEBO EFFECT

Researchers analysed results from clinical trials of the most common type of sleeping tablets and found

that half of the benefit of taking the pills comes from the placebo effect .Some health experts have

questioned whether the benefits justify their side effects ,which can include memory loss ,fatigue and

impaired balance.

नींद की गोली खाने वाले लोगों पर किये गए एक हालिया अधययन से विदित हुआ है कि ज्यादातर  लोगों को

नींद इस ख्याल से आ जाती है कि उन्होंने नींद लाने वाली गोली खाली है भले उन्हें छद्म गोली (उदासीन

निष्क्रिय रसायन या फिर मीठी गोली )ही खिला दी जाए .जबकि ऐसी गोलियों के अवांछित प्रभावों में शामिल हैं

याददाश्त क्षय ,थकान ,और संतुलन कायम रखने में कमी बेशी .

Placebo :Placebo is  a  prescription without physical effect  something prescribed for a patient that

produces a psychological improvement rather than having a physical effect.

Placebo is an inactive substance a preparation having no active ingredients given to a patient

participating in a clinical trail in order to assess the performance of a new drug .

Placebo effect :A sense of benefit felt by a patient that arises solely from the knowledge that treatment

has been given .

(3)खूबानी  में मौजूद रहता है सेलुलोस (वनस्पतियों की कोशिका की दीवार को बनाने वाला

एक कुदरती पदार्थ

)और Pectin (पादप कोशिका की दीवारों में पाया जाने वाला polysaccharides मिश्रण )जो कब्ज़ को दूर करने में

कारगर सिद्ध होता है ,पाचन में मददगार .

(4)Hummus is a powerhouse of iron ,manganese ,copper ,vitamin 

B6 ,folic acid ,amino acids and 

omega three fatty acids.

बतलादें आपको हमस ब्रेड स्प्रेड के बतौर भी खाया जाता है .

Hummus is a Middle Eastern dip made with mashed chicpeas(छोटी मटर की फलियाँ ),tahini ,oil ,lemon

juice ,and garlic ,combined into a thick paste.

Tahini is an oily paste made from crushed sesame seeds (पिसे हुए तिलों से तैयार पेस्ट ).

(5)खाना हमेशा खुश होकर पकाइये कुढ़ फुंक  कर कुपित होकर नहीं ,हमेशा सकारात्मक रहें ,पाजिटिव माइंड

फ्रेम में रहें

खाना पकाते वक्त ,तनाव ग्रस्त रहकर पकाने पर रिणात्मक ऊर्जा पकाए गए भोजन में अंतरित हो जाती है .

(6)यदि ठंड और सूखी हवा से होंठ फट गए हैं ,शहद लगाइये ,ठोड़ी देर बाद ताज़ा पानी से धौ डालिये .

(7)TODDLER'S LANGUAGE SKILLS CAN PREDICT FUTURE ANGER

Toddlers with more developed language skills are able to manage frustration and less likely to express

anger by the time they are in school .That is the conclusion of a new study from researchers at the

Pennsylvania State University that appears in the journal Child Development.



4 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

सार्थक लेखन!

संदीप पवाँर (Jatdevta) ने कहा…

आजकल गाय का दूध शहरों में आसानी से मिलता ही नहीं है, मिल गया तो पीने वाले नहीं।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

रात में तो पीते हैं, अब दिन में भी एक कप।

अरुन शर्मा "अनंत" ने कहा…

आदरणीय सर लाभकारी जानकारी आभार