शुक्रवार, 27 अप्रैल 2012

एक असामान्य प्रसव :जब मुरगी ने सीधे- सीधे चूजा पैदा किया

एक असामान्य प्रसव :जब मुरगी ने सीधे- सीधे चूजा पैदा किया 

Proved  : Chicken comes before egg  /TIMES TRENDS/THE TIMES OF INDIA/APRIL 21,2012

ज़ाहिर  है  इस इस बिरले असामान्य प्रसव में मुर्गी की जान पे बन आई .प्रजनन -प्रसव मार्ग में गहरे घाव बन गए .मुर्गी चल बसी .रह गया चूजा बिना माँ के .कुदरत की लीला निराली है .

केन्द्रीय श्री लंका के एक मुर्गी खाने में इस  विचित्र प्रसव की घटना सामने आई है . जिसमें   जननांग मार्ग  से अंडे की जगह चूजा ही सीधे -सीधे बाहर आया .

वेटनरी सर्जन (पशु शल्य चिकित्सा के माहिर ) पी आर यापा इस प्रसव के चश्मदीद गवाह बने .आप वेल्मिदा टाउन के  वेटनरी  इंचार्ज हैं .

बकौल आपके ऐसा प्रतीत होता है अंडे के सेने की प्रक्रिया तीन हफ्ते का इन्क्यूबेशन पीरियड (अंडा सेने की सामान्य अवधि )मुर्गी के शरीर में ही संपन्न हो गई .चूजा पूर्ण विकसित तथा प्रसव के बाद सामान्य और स्वस्थ रहा है .

'इस सामान्य से हटकर व्यवहार अनोखे प्रसव के बारे में मैंने सुना  भर था'-  देखा अब है विस्मित होते हुए आपने बुदबुदाया था .

मुर्गी का बाकायदा पोस्ट मोटम (शव परीक्षण) किया गया .पता चला गहरे और अंदरूनी जख्म खाने की वजह से मुर्गी की मृत्यु हुई .प्रजनन मार्ग कट फट गया था ,गहरे घाव थे .

जानते हैं अंग्रेजी के एक अखबार ने इस घटना को चटखारे लेके प्रस्तुत किया जैसे उसके हाथ अलादीन का खजाना लग गया हो ,'गोड पार्टिकिल ' हाथ लग गया हो ,न्यूट्रिनो मिल गया हो इस रिपोर्टर को .पूर्णत : संवेदन हीन रिपोर्टिंग को शीर्षक दिया गया -
  
Proved :  Chickes comes before egg

जैसे किसी अबूझ विज्ञान पहेली 'होली ग्रेल ऑफ़ साइंस' का हल  इसके हाथ लग गया हो . 

हल कर ली गई है पहेली मुरगी पहले आई या अंडा 

क्या यह सटीक शीर्षक होता इस विरल घटना का ?

यह तर्क वैसे ही है जैसे कहीं  पर तेजाबी बारिश हो और कोई विज्ञान पत्रकार कह उठे -आसमान के एक हिस्से का खून हो गया  है  .निष्कर्ष निकाले -खून आसमान से बरसता है .

कोई किसी कुतिया को बंदरिया के मासूम बच्चे को दूध पिलाते देख अगले दिन के रिसाले में लिख मारे -बन्दर कुतिया के पेट से आते हैं वह ही इनकी स्वाभाविक माता होती है .

कोई औरत किसी ऐसे असामान्य बच्चे को जन्म दे जिसका एक अंग पशु जैसा हो और कोई निष्कर्ष निकाले -पशु औरतों के पेट से ही आते हैं .

अर्थ का अनर्थ ऐसे ही होता है .

जब कोई कुतर्की निर्बुद्ध असामान्य घटनाओं को अपवादों को नियम मान निष्कर्ष निकालता है तब ऐसा ही होता है .कहाँ से आ गए ये अबुद्ध ,मंद मति विज्ञान पत्रकारिता में ?

  मुरगी ने चूजा दिया यह इसलिए अपवाद है क्योंकि मुरगी अंडज है .यह न तो नियम और न ही कोई निष्कर्ष निकालने का आधार .

कबीरा खडा बाज़ार में सबकी चाहे खैर ,
न काहू से दोस्ती , न काहू से बैर .

बुरा लगे या भला , लिख दिया सो लिख दिया .

राम  राम  भाई राम राम भाई !  

आरोग्य की खिड़की 


(१) विटामिन डी रहता है मददगार हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में 

एक नए अध्ययन के अनुसार हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में विटामिन डी सम्पूरण की रोजाना ली जाने वाली एक खुराक भी उतनी ही कारगर सिद्ध होती है जितनी तजवीज़ की गई दवाएं ,प्रेस्क्रिप्शन ड्रग्स .

अपने अध्ययन में Holstebro Hospital ,Denmark में रिसर्चरों की एक टीम ने विटामिन डी सम्पूरण की एक खुराक रोजाना २० सप्ताह तक ११२ हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को मुहैया करवाई .पता चला यह सम्पूरण भी ब्लड प्रेशर का विनियमन करने में उतना ही  कारगर रहा जितना की नुस्खे पे लिखी जाने वाली दवाएं .

(२) बढ़िया  रहता है चुकंदर खिलाड़ियों और सभी धावकों के लिए 

बीटरूट का नियमित सेवन खिलाड़ियों के दमखम में इजाफा करता है .धावक अपनी लम्बी दूरी दौड़ कम समय में संपन्न कर लेते हैं .फिनिश लाइन पर तेज़ी से पहुंचतें हैं इसका सेवन करने वाले धावक .
 
अमरीका  की  St  Louis  University के रिसर्चरों ने पता लगाया है कि जो धावक दौड़ शुरू होने से पहले भुने हुए चुकंदर का सेवन कर लेतें हैं वह पांच किलोमीटर ज्यादा तेज़ दौड़ लेते हैं बरक्स अन्यों के .


(३) स्त्राबेरीज़ और ब्ल्युबेरीज़ दिमाग को धारदार बनाए रहतीं हैं  

उम्र दराज़ होने पर भी स्त्राबेरीज़ और ब्ल्युबेरीज़ का नियमित सेवन करते रहना दिमाग को शार्प तेजतर्रार याददाश्त क्षम बनाए रहता है .यह कमाल है इनमे मौजूद Flavonoids के प्राचुर्य का .बुढापे में याददाश्त खोते चले जाने की प्रक्रिया को इनका सेवन ढाई साल आगे खिसका देता है .बोध क्षमताएं देर तक बरकरार रहतीं हैं .

(४)  लोक लुभाऊ चमक दार गहरे रंग की तरकारियों का नियमित  सेवन कैंसर समूह के तथा दिल के रोगों से बचाए रहने में ज्यादा मददगार सिद्ध होता है .

(५) टखने की मोच से राहत के लिए

कलाई या टखने का मोच खा जाना एक आम बात है पीड़ा दायक भी सिद्ध होता है .राहत के लिए इसे अपने दिल से ऊंचा रखते हुए बर्फ की आधा घंटा सिकाई कीजिये .

To cure an ankle sprain ,elevate it above your heart and apply an ice pack for 30 minutes.

(6)  एक  खतरनाक   नशीले   पदार्थ कोकेन के सेवन का मतलब दिमाग को बुढापे की और ढकेलना है .इसके आदी हो चले लोगों में ब्रैनवोल्युम का हर साल दोगुना ह्रास होता है अन्यों के बरक्स . दिमाग के बुढ़ाने के साथ ही इन लोगों में 'ग्रे मेटर' भी कम होता चला जाता है .बोध  सम्बन्धी क्षमताओं के छीजने की वजह ग्रे मेटर की कमी ही बनती है .

Gray matter  /greymatter 

    व्यक्ति  की  बौद्धिक क्षमता का द्योतक  /पैमाना होता है ग्रे मेटर .

Gray matter means intelligence or brains .It is the brownish -grey nerve tissue consisting mainly of nerve cell bodies within the brain and spinal cord.

The darker coloured tissues of the central nervous system ,composed mainly of the  cell bodies of neurons ,branching dendrites ,and glial cells are together referred to as grey matter .

In the brain grey matter forms the cerebral cortex and the outer layer of the cerebellum ; in the spinal cord grey matter lies centrally and is surrounded by white matter.

(7) आर्थराइतिस के दर्द के मुकाबले के लिए duloxetine की जादुई गोली 

ऑस्टियोआर्थराइतिस के मरीजों को घुटने के दर्द से राहत दिलवाने के लिए साइंसदान लेकर आयें हैं एक नै (दर्द निवारक )गोली Duloxetine .समझा  जाता  है  यह  गोली घुटने के दर्द को देखते ही देखते काफूर कर देगी .जबकी परम्परा गत एंटीइन्फ्लेमेत्री दवाएं दीर्घावधि सेवन के बाद स्टमक डेमेज की वजह बनतीं हैं .अन्य अवांछित प्रभाव भी सामने आतें हैं .  

6 टिप्‍पणियां:

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

क्या ख़ूब लिख दिया आपने

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

वाकई में यह एक असामान्य घटना है!...कुदरत के खेल न्यारे!...असामान्य जानकारी,आभार!

डॉ टी एस दराल ने कहा…

Truly Amazing Incident .

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

विकार को विकास कैसे कहा जा सकता है।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
घूम-घूमकर देखिए, अपना चर्चा मंच
लिंक आपका है यहाँ, कोई नहीं प्रपंच।।
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
सूचनार्थ!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सभी जानकारी महत्त्वपूर्ण हैं ....