शुक्रवार, 13 अप्रैल 2012

नींद से जुडी है मधुमेह और मोटापे की नव्ज़ .

नींद से जुडी  है मधुमेह और मोटापे की नव्ज़ .
सेहत के लिए छ :से आठ घंटे की अच्छी नींद ज़रूरी है .लेकिन अगर आपको सोने के लिए भी मशक्कत करनी पड रही है ,तब आपके लिए मधुमेह और मोटापे दोनों के खतरे का वजन बढ़ रहा है .
Brigham and Women's अस्पताल  बोस्टन  के रिसर्चरों के अनुसार जो लोग दिन भर में बा -मुश्किल पांच घंटे से भी कम सो पातें हैं ,उनकी रेस्टिंग मेटाबोलिक रेट में गंभीर किस्म की तबदीली देखी जाती है .नतीज़न साल भर में ही उनका तौल (वजन) साढ़े चार से लेकर साढ़े पांच किलोग्राम वेट तक बढ़ जाता है . 
अपचयन(मेटाबोलिस्म ) की दर से हमारा मतलब होता है किस रफ़्तार से आप केलोरीज़ खर्च कर रहें हैं .
यूं सबकी बेसल मेटाबोलिक रेट अलग अलग होती है .लेकिन वो अलग मुद्दा है .
दीर्घावधि में नींद की यह मेह्रूमियत आपको मोटापे और मधु -मेह की और ले जा सकती है ,ले जाती है .बहुत देर नहीं लगती तीन चार सालों में ही आप ओबीस हो जाते हैं .स्नायु -विज्ञान और नींद के माहिर इस अध्ययन  के अगुवा रिसर्चर 'Orfeu Buxton' लोसेंज़िलीज़  टाइम्स के साथ एक बातचीत  में  अपने ये विचार व्यक्त कर चुकें हैं .
अपने अध्ययन में आपने २१ लोगों को अपनी देख रेख में छ :हफ़्तों तक  दुनिया जहां से अलगा के रखा .पहले तीन हफ्ते इन्हें खुलकर १० घंटा बिस्तर में बिताने के लिए कहा गया .ताकि इन्हें नींद की अनुकूलतम ,ओप्तिमल  ,इष्टतम मात्रा नसीब हो सके . इसके बाद प्रयोगों की आज़माइश की गई .
राम राम भाई !  राम राम भाई !  राम राम भाई !
नुश्खे सेहत के :
नुश्खे सेहत के :अम्ल  रोग (एसिडिटी ):यदि तेज़ाब या अम्ल ज्यादा बनता है तब दोपहर और रात  के खाने के बाद एक एक लॉन्ग चूसें .  
हिचकियों से बचाव :यदि हिचकियाँ  (Hiccups)   आ  रहीं हैं तब अदरक के छोटे छोटे टुकड़े जीभ के नीचे रख के चूसें .


8 टिप्‍पणियां:

रविकर फैजाबादी ने कहा…

अच्छी नींद के लिए चिंता मुक्त होना और प्रयाप्त थकना जरुरी | |

सुख-चैन की एक झपकी -
गई कितनों की और कब की ||
कुछ जोड़-तोड़ में व्यस्त-
और बाकी नोन तेल लकड़ी ||

बढ़िया मार्गदर्शन ||

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

आजकल तो हर किसी को नीद न आने की समस्या है.....अच्छी जानकारी

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

नींद के साथ मधुमेह और मोटापा यकीनन जुडा हुआ है....बेहद उपयुक्त जानकारी!...आभार!...बैशाखी की शुभकामनाएं!

शालिनी कौशिक ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी आभार.i.मंज़िल पास आएगी.

जाटदेवता संदीप पवाँर ने कहा…

जब नींद आती है तो पत्थरों पर भी आ जाती है, और जब नहीं आनी होती कितनी भी कोशिश कर लो नहीं आयेगी।
उपयोगी जानकारी

Arvind Mishra ने कहा…

राहत !
हम तो कुल मिलाकर ८ घंटे खींच ही लेते हैं !

दिगम्बर नासवा ने कहा…

शुक्र है अपने को नींद आ जाती है जल्दी आर लंबे ... अच्छे जानकारी जी ... राम राम भई ...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हमें तो ८ घंटे से अधिक नींद आती है..