गुरुवार, 27 सितंबर 2012

क्या हैं जोखिम तत्व "डिश" के

क्या हैं  जोखिम तत्व "डिश" के 

भले माहिरों को यह खबर न हो कि किन वजहों से होता है यह खतरनाक रोग -डिश यानी डिफ्यूज इडियोपैथइक स्केलीटल हाइपरओस्तोसिस लेकिन इतना इल्म हो चला है कौन सी वह बातें हैं जो इस रोग की चपेट में आने के मौके बढा देतीं हैं .

(१)कुछ दवा दारु भी हैं कुसूरवार 

विटामिन ए सरीखी कुछ दवाएं यथा रेटिनोइड्स (isotretinoin,/Accutane,others ).बेशक यह अभी स्पस्ट नहीं है कि क्या विटामिन ए की बड़ी खुराकें भी कुसूरवार ठहराई जा सकतीं हैं ?

(२)जेंडर ./सेक्स 

पुरुषों के लिए इसका जोखिम ज्यादा रहता है बरक्स महिलाओं के .

(३)प्रौढावस्था मर्दों की 

पचासे में जो पुरुष दाखिल हो चुकें हैं उनमें ये रोग आम तौर पर देखने को मिलता है .

(४)मधुमेह एवं अन्य रोगात्मक अवस्थाएं 

जीवन शैली रोग (सेकेंडरी डायबितीज़ ) से ग्रस्त लोगों के लिए इस रोग के खतरे का वजन तथा इसकी लपेट में आजाने के मौके बने रहतें हैं .कुछ और ऐसी बीमारियों में भी जिनमें शरीर में इंसुलिन का स्तर बढा रहता है मसलन हाइपरइन्सुलिनेमिया   ,मधुमेह पूर्व की अवस्था (प्रीडायबिटीज़ ),ओबीसिटी आदि में भी डिश का ख़तरा बना ही रहता है .

"डिश" रोग में पेश जटिलताएं 

इसमें रोगी के लिए कुछ  खतरों का वजन बढ़ जाता है :

असर ग्रस्त जोड़ काम करने से इनकार कर सकता है .मसलन कन्धों के जोड़ों के असर ग्रस्त होने पर बाजू उठाने में तकलीफ हो सकती है .बाजुओं का संचालन दुष्कर हो सकता है .

खाद्य -पेय पदार्थों को   निगलने सटकने चुस्की लेने में दिक्कत पेश आ सकती है. 

ऐसा तब होता है जब ग्रीवा की कशेरुकाएं (cervical spine ) "डिश " से असर ग्रस्त होकर ग्रास /भोजन नली पर दवाब बनाने लगती हैं .ऐसे में भोजन का मुख से आमाशय /उदर तक पहुंचना मुहाल हो जाता है .

सर्विकल स्पाइन में पनपे बोनि स्पर (केल्शियम डिपोजिट से पैदा कठोरता से बढ़वार )आवाज़ को कर्कश बना सकतें हैं ,सोते वक्त सांस की आवाजाही को खुर्राटों की वजह से बाधित कर सकतें हैं .

कभी कभार इन मामलों में बोन स्पर्स को निकालने के लिए सर्जरी भी करनी पड़ सकती है .

फालिज /पक्षाघात /लकवा 

Diffuse idiopathic skeletal hyperostosis that affects the ligaments running up the outside of your spine (posterior longitudinal ligament) can put pressure on your spinal cord.Spinal cord  compression may result in a loss of feeling and paralysis.

3 टिप्‍पणियां:

mahendra verma ने कहा…

जितना मैं सोच रहा था उससे कहीं अधिक सुबोध और विस्तृत जानकारी मिल रही है मुझे, DISH के बारे में।
आभार, सर।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

अच्छी जानकारी दी....

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

रोचक और ज्ञानवर्धक..