शनिवार, 6 अगस्त 2011

Erectile dysfunction? Try losing weight Health

लिंगोथ्थान अभाव और मोटापा एक लिविंग टुगेदर ,सहजीवन और परस्पर संवर्धन बनाए चलतें हैं .(erectile dysfunction (ED) often go hand in हैण्ड)।
कद काठी के विपरीत अतिरिक्त वजन खुद का उठाए चलना धमनियों (शिश्न को रक्त ले जाने वाली धमनियां भी इससे असर ग्रस्त होतीं हैं )की सेहत पर भारी पड़ता है .
चालीसा के पार मोटापे से ग्रस्त व्यक्तियों में रक्त वाहिकाओं की शिकायत आम पाई गई है .और इस वय के लोगों में "ईडी " की ख़ास वजह भी यही मोटापा बना हुआ है ।
वजन कम करने के साथ ही आत्म विश्वास भी खुद में पैदा होता है शयन कक्ष में एहम भी पुरुष का संतृप्त होता है ,परवान चढ़ता है ।
व्याग्रा समस्या का तात्कालिक हल हो सकता है समाधान नहीं है फिर इसकी छुड़ाई की अपनी समस्याएं हैं .दर हकीकत यह दवा दिल के मरीजों के लिए रची गई थी ,ओवर इरेक्शन की समस्या भी इससे कुछ को पेश आती है मौत की वजह भी ये चंद मामलों में बनी है ।
जब तबीयत "व्याग्रा" पे आती है ,
मौत के दिन करीब होतें हैं .
कसरत है आसान उपाय ,औकात है तो बेशक महंगे ट्रेनर वाले जिम में जाइए ,बेली फैट घटाइए ।
"डो नट".,रसगुल्ले ,हलुवा ,पूड़ी भूल जाइए असली व्याग्रा का लुत्फ़ उठाइए .असली" स्विट डिश" खाइए .
खुश -खबरी :एक ऑस्ट्रेलियाई अध्ययन के मुताबिक़ केवल एक दोमाही में वजन कम करने से "ईडी "की समस्या ५%से १०% कम होते देखी गई .इसी के साथ इन "ओबेसीऔर डायबेटिक लोगों के शयन कक्ष में आनंद वर्षंन हुआ है .।(स्रोत :"Journal of Sexual Medicine," ).
बेशक इस अल्प -काली अध्ययन में लेदेकर ३१ सब्जेक्ट्स (प्रतिभागी )ही शामिल थे .लेकिन इससे मोटापे और "ई डी "के परस्पर एक जुड़ाव का इल्म तो होता ही है ।Excess weight -- especially excess belly fat -- can affect sexual function in many ways; it can interfere with the body's ability to supply blood to the penis, for instance, and it can cause testosterone production to plummet.
अब सारा खेल टेस्टों -स्टेरों का ही तो है .सारी काम -लीला और क्रीडा का प्रणेता और सूत्रधार यही तो है और तोंद सबसे पहले इसे ही ले उडती है ।यौन -सक्रिय व्यक्ति सही खानपान स्वास्थ्य कर भोजन की ओर सहज ही बढ़ने लगता है .तो ज़नाब आदमी के खान -पान की छाया -प्रत्तिछाया उसके यौन -जीवन पर भी देर सवेर पड़ती ही है ।
आदमी को वजन कम करने के लिए उकसाने का सबसे आसान तरीका यही है ,दिल की बीमारियों और मधुमेह के प्रति बारहा खबरदार करना बे -असर रहता है लेकिन यौन जीवन के प्रति चेताना ,वहां तो सवाल पुरुष के पौरुष से आ जुड़ता है और इसीलिए असरदार सिद्ध होता है ।
आप निर्वस्त्र खड़े हो जाइए यदि आप मेरी तरह तोंद लिए हुए हैं तो नीचे झाँकने पर आपको "छोटे लाल "के दर्शन नहीं होंगे .तोंद रास्ते में आ जायेगी शिश्न स्वास्थ्य के .पीनाइल हेल्थ का ख़याल रखिये ।
आपने एक विज्ञापन देखा सुनाहोगा -आप अपनी बीवी को कित्ता प्यार करतें हैं ,ज्यादा बहुत ज्यादा करतें हैं तो अमुक ब्रांड का प्रेशर कुकर ही खरीदिये .यहाँ भी सारा खेल रक्त प्रवाह का है जो शिश्न को रक्त ले जाने वाली धमनियों की ओर बढ़ता है काम उत्तेजना के क्षणों में .आपकी शिश्नीय रक्त वाहिकाएं डायलेट होंगीं तभी पूरा रक्त उठा पाएंगी .संकरी होने पर ऐसा कुछ नहीं होगा .शीर्ष पर चले भी गए तो वहां बने रहना मुश्किल होगा ।
An erection occurs when the blood vessels leading to the penis dilate, causing it to fill with blood। This process begins when the inner lining of the vessels (known as the endothelium) releases nitric oxide, a molecule that signals the surrounding muscles to relax। (Viagra and similar drugs work by increasing the amount of nitric oxide in the endothelium।).एंजाइना का दर्द होने पर भी जीभ के नीचे मोनो /डाई /फाइव नाईट -रेट्स की गोली रखी जाती है .
अलावा इसके लिगोथ्थान एक हृद -वाहिकीय घटना है .जिसका सम्बन्ध दिल ओर रक्त वाहिकाओं की सेहत से होता है .
"An erection is basically a cardiovascular event," says Robert A। Kloner, M.D., a cardiologist and professor of medicine at the University of Southern California's Keck School of Medicine, in Los Angeles. "If blood flow cannot increase because the blood vessels can't dilate normally, then there's a decrease in erectile function."
वजन कम करने के साथ "एंडो -थेलिअल" का भी स्वास्थ्य सुधरता है ."धमनियों का अस्तर" पुख्ता और पुष्ट होता है ।Poor heart health can cause ED in another way. The fatty foods and lack of exercise that cause weight gain also contribute to the narrowing and hardening of arteries (atherosclerosis), in which cholesterol and other substances build up in the artery wall.
बताने की ज़रुरत है ,चिकनाई सना भोजन ,दैनिकी से व्यायाम का सिरे से नदारद रहना धमनियों को संकरा बना देता है ,दिल को कमज़ोर .तोंद को पुष्ट करता है .खून में घुली चर्बी की मात्रा को बढाता है .मोटे सोलह साला किशोर या षोडशी का शरीर १६ का और धमनियों की उम्र ४० की होती है .

Atherosclerosis, which can lead to heart attacks if it occurs in major arteries near the heart, can happen just as easily in the small blood vessels leading to the penis.

In fact, atherosclerosis may hit those small blood vessels first, which is why ED is increasingly seen as an early warning sign of heart disease, Kloner says।

(ज़ारी

The role of तेस्तोस्तेरों
माहिरों के अनुसार "ई डी " की दूसरी एहम वजह मर्दों में सेक्स हारमोन "टेस्ट-अ -स्टेरोंन "का कमतर स्तर बना हुआ है ।
चर्बी चढ़ने के साथ यह घटाव बढ़ता जा रहा है इस पुरुष यौन हारमोन का .इस कमीबेशी के लिए भी मुख्य कुसूरवार "बेली फैट "को ही माहिर बतला रहें हैं .दिल और यौन के फंक्शन के माहिर (हार्ट एंड सेक्स्युअल फंक्शन के स्पेशलिस्ट ) तोंद को ही सबसे बड़ा खलनायक बतला रहें हैं शयन कक्ष में .इसी के चलते अनाप सनाप ऐसा कुछ हमारे स्रावी तंत्र से रिसने लगता है जो टेस्ट -अ -स्टेरोंन के स्तर को कम करता है ।
समाधान :यहाँ सिर्फ वजन घटाने से टेस्ट -अ -स्टेरोंन का स्तर नहीं सुधरेगा ,माहिरों के अनुसार इसके लिए -
इस हार्मोन से संसिक्त जेल ,शोट्स (सुइयां )और पैचिज़ काम आयेंगे ।
Losing even a little weight can improve blood vessel function (as the new study shows), but the effect of weight loss on testosterone levels may not be as rapid or as direct Men who have persistently low testosterone levels and ED despite losing weight may need to consider testosterone gels, shots or patches, Tamler says.
Weight loss can turn things around
आदमी को मोटापे से उतनी शर्मिंदगी महसूस नहीं होती जितनी इन हालातों में औरत से रु -बा -रु होने में होती है ।
Being overweight doesn't seem to affect a man's self-esteem as much as it does a woman's, says Joel Block, PhD., a psychologist on Long Island who specializes in couples therapy and sex therapy. ED, on the other hand, can trigger a cycle of shame and doubt in even the most confident men.
यह एक ऐसा रोग है जो एक वैज्ञानिक अवधारणा "पर -पी -च्युअल -मोशन -मशीन "स्वयं चालित मशीन की तरह काम करता है आपसे आप आगे बढ़ता है .इस अवधारणा को पुष्ट करता चलता है ,'मर्ज़ बढ़ता गया ज्यों -ज्यों दवा की" .जब इन -पुट ही नहीं होगा तो आउट -पुट कहाँ से आयेगा ?
"Once [ED] happens it becomes self-perpetuating," says Block, an assistant clinical professor at the Albert Einstein College of Medicine, in New York City "The more he fails, the more difficulty he has."
आदमी रात से डरने लगता ,शयन कक्ष से भी आहिस्ता -आहिस्ता उसकी दिल -चस्पी छीजने लगती है उसका स्थान ले लेती है ,-रूचि और "अवसाद "डिप्रेशन .
"People need to feel good about themselves [to] overcome performance anxiety and other things in the sex arena, and sometimes it's as simple as getting into shape," Josephson says.
कुंजी वजन घटाना है ,ज़रुरत पड़ने पर हारमोन चिकित्सा भी .

These men may see their morning erections return, he adds, and their wives have been known to say they're acting "friskier."

"They'll come in and tell me, 'Wow, doc, things are really turned around,'" he says।

(समाप्त )





















12 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जिन्दगी जीना है तो जीभर के खेलिये।

G.N.SHAW ने कहा…

भाई साहब इससे सावधानी जरुरी है ! अच्छी जानकारी दी है आपने !

SM ने कहा…

excellent information
still in india talking about sex is taboo in open.

डॉ टी एस दराल ने कहा…

जब तबीयत "व्याग्रा" पे आती है ,
मौत के दिन करीब होते हैं --

बहुत सही कहा ।
शरीर में चुस्ती स्फूर्ति नहीं होगी तो सभी अंग बेकार हो जाते हैं ।

mahendra verma ने कहा…

मोटापा अच्छे स्वास्थ्य का प्रबल शत्रु है।
रोचक और ज्ञानवर्द्धक जानकारी के लिए शुक्रिया, सर।

संजय भास्कर ने कहा…

बहुत सही कहा आपने सावधानी जरुरी है...ज्ञानवर्द्धक जानकारी के लिए शुक्रिया

Vivek Jain ने कहा…

ज्ञानवर्द्धक जानकारी दी है आपने,
धन्यवाद,

विवेक जैन vivj2000.blogspot.com

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

सही कहा आपने।

------
ब्‍लॉगसमीक्षा की 27वीं कड़ी!
आखिर इस दर्द की दवा क्‍या है ?

Babli ने कहा…

बहुत बढ़िया, महत्वपूर्ण, रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मिली! धन्यवाद!

Dr Varsha Singh ने कहा…

बहुत सही विषय चुनते हैं आप....

ved parkash ने कहा…

"छोटे लाल "के दर्शन %%%%%%%********+++++++????????????~~~~~~~~~~~&&&&&&&&&&&

Surendra shukla" Bhramar"5 ने कहा…

आदरणीय वीरुभायी जी
बहुत अच्छा विषय लेकर चल पड़े हैं आप -सुन्दर जानकारी -निम्न कथन सटीक

माहिरों के अनुसार शरीर जन्म देने की कुदरती प्रक्रिया से उसी तरह वाकिफ है जैसे वह इस बात से वाकिफ है कि एक आध्यात्मिक चमत्कार की तरह गर्भ चले आये जीव का गर्भकाल में पल्लवन और पोषण कैसे किया जाता है .

आप सब को भी राखी और स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभ कामनाएं
धन्यवाद आप का
भ्रमर५