शुक्रवार, 26 अगस्त 2011

राहुल ने फिर एक सच बोला .

राहुल ने फिर एक सच बोला .बिजूके वाली कोंग्रेसी लाइन पकड ली -भ्रष्टाचार मिटाने के लिए कोई जादुई छड़ी नहीं है किसी के भी पास .भ्रष्टाचार के खिलाफ और अन्ना जी के साथ मैं भी हूँ .
भ्रष्टाचार एक दिन में समाप्त नहीं होगा .पहले कहा था ,आतंकवाद एक दिन में नहीं जाएगा .अब कह रहें हैं -लोकपाल एक संविधानिक पद होना चाहिए .सच बोल रहे हो मंद मति भैया ,जब आग लगी हो सच बोलना चाहिए "मैं भी भ्रष्टाचार के खिलाफ हूँ .अन्ना जी के आन्दोलन के साथ हूँ "लेकिन आग में घी डालूँगा .काग भगोड़े की लाइन पर चलूँगा .-संसद में चर्चा होनी चाहिए .भ्रष्टाचार एक दिन में नहीं जाएगा .लोकपाल को एक संविधानिक संस्था होना चाहिए .भैया मंद मति पहले अपने घर के बाहर चल रहे प्रदर्शन को रोकिये .वर्तमान की बात करो फिर भविष्य में जाना .एक भी नौजवान आपके साथ नहीं है .फिर भविष्य की टालू बात करना संजय निरुपम कह रहें हैं -जो कुछ राहुल जी ने कहा है वही तो अन्ना जी भी कह रहें हैं .अब बताओ इत्ता बड़ा आदमी भी क्या झूठ बोलेगा .आप के सच का समर्थन मुक्त कंठ से कर रहा हैयह अनुपम .इस देश में कोंग्रेस का अपना सच है आपकी दादी कहतीं थीं -भ्रष्टाचार एक आलमी ,ग्लोबल फिनोमिना है ,कोंग्रेस यही समझा- ती आई है आपके पापाजी अपवाद थे ,अपने को मिस्टर क्लीन कहलवाते थे .आपकी मम्मीजी भी इसी खतरनाक लाइन पर चल रही है .बारहा उन्होंने कहा है -भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा .सबके लिए यकसां नियम होंगे ऊपर से लेकर नीचे तक .आज वह देश की इस आपद घडी में लापता हैं .क्या कहिएगा उनके बारे में बालक मंद -मति.?

7 टिप्‍पणियां:

ved parkash ने कहा…

sahi kha sir aapne

Bhushan ने कहा…

बढ़िया पोस्ट. किसी दिन 'बिजूके' पर अलग पोस्ट भी दीजिए.

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

बोलने के अलावा और भी कुछ काम हे?...ख़ैर चलो बोले तो

Nilam-the-chimp ने कहा…

अन्ना (हजारे) टेल
जैसे हर ख़ूनी को बचाने के लिये एक रामजेठमलानी होता है
ऐसे मनमोहन को लोकसभा में बचाने के लिये एक आडवानी जरुरी होता है
JP, BJP, LJP बेईमानो के पीछे जयप्रकाश (JP) लगा देख के अफ़सोस होता हैं
पर हर एक पार्टी के लिये भ्रष्टाचार जरुरी होता है
और हर भ्रष्टाचारी को ईमानदारी से तोड़ने के लिये है अन्ना हजारे
अपनाइए अन्ना टेल बिना अपनी पार्टी बदले
ल ल ला ला ला ला ला ला
http://tatva-bodh.blogspot.com/

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

देशहित सर्वोपरि हो।

Navin C. Chaturvedi ने कहा…

आप ने सही सवाल उठाया है। देश को अपने भावी नेता से वयस्क प्रतिक्रिया की उम्मीद है।

यादें ने कहा…

वीरू भाई राम-राम !!!
क्या बात कर दी आपने ...???
झूठ तो इस खानदान ने कभी बोला नही और सच कभी किसी का सुना नही क्यों ....हा हा हा ...
शुभ हो ...