बुधवार, 8 अगस्त 2012

What Is A Subluxation ?

What Is A Subluxation ?

If you have a subluxation in your spine you can not function at your best .

Subluxations interfere with proper nerve and organ health.

Correcting silent subluxations today might save you and your family from conditions that , could not possibly be ignored .

Chiropractors teach patients about the need for periodic spinal adjustments.

Why Has Chiropractic Become So Popular ?

काइरोप्रेक्टिक चिकित्सा प्रणाली के माहिर ही Vertebral  subluxation complex का पता लगाकर उसे दुरुस्त कर सकतें हैं .यदि आप इस कोम्प्लेक्स से ग्रस्त हैं तब आप सही  मायनों में तंदरुस्त नहीं रह सकते .भले आपको इस अकसर पीड़ा रहित प्रावस्था का इल्म हो या न हो .

महत्त्वपूर्ण सबसे अधिक, गुर्री गुर्री रीढ़ | गर खिसकेगी एक भी, होय भयंकर पीड़ | होय भयंकर पीड़, नशें दबने न पावें | हृदय रोग संभाव्य, जीव बहरा हो जावे | यह काया कंकाल, जाल में फंस न जाए | इसीलिए अब जांच, आप नियमित करवाएं || What Is A Subluxation ? पर कविवर एवं कुंडली -कार रविकर फैजाबादी .

कैसे अन्वेषित हुए Subluxations ?

डॉ डेनियल डेविड पाल्मर (अमरीका में पाल्मर ही कहतें हैं ब्रितानी अंग्रेजी में पामर ) पेशे से एक मेग्नेटिक हीलर थे .चुम्बक की प्राकृतिक शक्तियों से रोग शमन करने वाले माहिर रोगहर थे .एक मर्तबा आपने एक गूंगे बहरे व्यक्ति की रीढ़ की जांच पड़ताल की .पता चला रीढ़ की हड्डी की गुर्री का एक अंश ,कशेरुका (Vertebra) अपनी जगह से थोड़ा हटा हुआ है ,खिसका हुआ है ,विस्थापित है ,विचलन है इसमें .आपने इसका पुनर समायोजन किया ,तालमेल बिठाया इसका बाकी रीढ़ के साथ .
आश्चर्य जनक रूप से यह व्यक्ति सुनने लगा .

अब पाल्मर ने अन्य मरीजों की रीढ़ की जांच शुरु की .एक मरीज़ उनके पास दिल का आया जिसकी तकलीफ कम नहीं हो रही थी .आपने इसकी रीढ़ की भी बारीक पड़ताल की .पता चला एक इसकी एक vertebra  ऐसी और उन नसों (स्नायुवों )  को कसे दाबे हुए है जो विभाजित होकर दिल तक जाती  हैं . .इसके समायोजन के बाद मरीज़ को फ़ौरन आराम आ गया .आपके खुद के शब्दों में -
" I examined the spine and found a displaced vertebra pressing against the nerves which innervate the heart .I adjusted the vertebra and gave immediate relief .

यहीं  से मेरे दिमाग में ये ख्याल आया अगर दो एक दम से जुदा बीमारियों की बहरे पन और दिल की तकलीफ की वजह नसों पर पड़ने वाला दवाब हो सकता है .तब क्या सभी बीमारियों की यही वजह नहीं होनी चाहिए . 

ऐसा अनोखा था इस चिकित्सा प्रणाली का बुनियादी अन्वेषण जिसे आज काइरोप्रेक्टिक के नाम से जाना जाता है .जिसकी बुनियाद है रीढ़ की हड्डियों के परस्पत विस्थापन का समायोजन ,पुनर तालमेल  करवाना spinal .subluxations को अडजस्ट करने करवाने से ताल्लुक रखती  है .

कुछ भी नया नहीं था यहाँ .पुनर -अन्वेषण था उस प्राचीन कला का  .स्पाइनल केयर का  जिसका हर संस्कृति में ज़िक्र है .अर्वाचीन काल से इसे आजमाया जाता रहा है .अब बताओ तो सही कहाँ नहीं है ये हड्डी सेट करने वाले ?

The Vetebral Subluxation Complex

Palmer's ' "displaced  vertebrae ......(causing )  a pressure on nerves " is now called the vetebral subluxation complex(VSC or subluxation).
The VSC is technically an abstraction ,like the electron ,gravity or the gene .
एक प्रकार का प्रथक्करण ,सारग्रहण ही है VSC.

यह वह शब्दावली है  प्रकृति की  वह घटना है जो पूरी शायद कभी समझ भी नहीं आयेगी लेकिन सच है .

It  is a term used to describe the phenomena by which chiropractors get such good results.

अधिकाँश परिभाषाएं VSC की यही बतलाती समझाती है मांजरा एक स्पाइनल बोन का है ,रीढ़ की हड्डी के एक अंश का है जो अपने स्थान से खिसक जाता है .यही खिसकाव दिमाग  के  प्रकार्य ,नर्व फंक्शन को असर ग्रस्त करता है .

सारी बीमारियों की जड़ यही VSC है 

इससे असर ग्रस्त होने पर काया ठीक से काम नहीं कर पाती फलत : बीमारियों से जूझने प्रति -रोध करने की क्षमता स्वत: ही कमतर हो जाती है .थकान ,बदन दर्द ,असंतुलन खराब सेहत का आइना बनके रह जातें हैं .इसीलिए VSC को कई मर्तबा" साइलेंट किलर "भी कह देतें हैं .

वजह यह धीरे धीरे आपकी जीवन शक्ति को क्षीण बना देता है .और आपको खबर भी नहीं होती आपकी सेहत को घुन लगा हुआ है .लग चुका है .

CORRECTING SUBLUXATIONS

यकीन मानिए यह एक महामारी है जिससे एक ही समय में अलग अलग जगहों पर बहुत सारे लोग असर ग्रस्त रहतें हैं .जी हाँ सब -लकशेसन एक महामारी की तरह इन दिनों आम फहम हैं .तकरीबन तकरीबन हर कोई इनसे प्रभावित है .कई मर्तबा कहा जाता है यदि आपकी कमर दर्द करती है गर्दन में कसक रहती है तो यह अच्छी बात है आप सौभाग्यशाली /शीला हैं आपको अपनी रीढ़ से जुडी समस्या की खबर तो हुई जिसके समाधान के लिए अब आप कमसे कम अपने काइरोप्रेक्टर के पास जायेंगे .रीढ़ की जाच की पहल करेंगे .

काइरोप्रेक्टर न केवल दर्द से प्रभावित हिस्सों की जांच करेगा बोनस के रूप में आपकी पूरी ही रीढ़ रज्जू (स्पाइनल कोलम )की पड़ताल करेगा .कहीं सब -लकशेसन तो नहीं ?है तो कहाँ है ?उन हिस्सों की भी जांच हो जायेगी जहां बिलकुल पीड़ा नहीं है (लेकिन वहां सब -लकशेसन हो सकता है ,यही तो मुसीबत है कई मर्तबा कहीं कोई पीड़ा नहीं होती आप सब -लकशेसन की गिरिफ्त में बने रहतें हैं अपने स्वस्थ होने रहने का मुगालता पाले रहतें हैं .जबकि आपकी जीवन ऊर्जा रिसने लगी है .शरीर बीमारियों का प्रति रोध नहीं कर पा रहा है .बीमारियों को न्योतने को तैयार खड़ा है .).

क्योंकि अकसर ये पीड़ा हीन ही बने रहतें हैं इसीलिए दिल की तरह सब -लकशेसन जांच के लिए साल में एक मर्तबा सबको आगे आना चाहिए .व्यापक चिकित्सा जांच में रीढ़ की जांच भी शामिल रहे .

आज इनसे छुटकारा मिल गया तो आगे के लिए आराम ही आराम है .उम्र बढने के बाद आप इनकी उपेक्षा नहीं कर पायेंगे . 


    

10 टिप्‍पणियां:

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

प्रभावशाली प्रस्तुति .

Arvind Mishra ने कहा…

New knowledge and info!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

तंत्रिकाओं का पूरा का पूरा जत्था रीढ़ की हड्डी से होकर जाता है, ख्याल रखना बहुत आवश्यक है।

dheerendra ने कहा…

बहुत बढ़िया जानकारी,इसका ख़याल रखना आवश्यक है,

RECENT POST...: जिन्दगी,,,,

रविकर फैजाबादी ने कहा…

महत्त्वपूर्ण सबसे अधिक, गुर्री गुर्री रीढ़ |
गर खिसकेगी एक भी, होय भयंकर पीड़ |
होय भयंकर पीड़, नशें दबने न पावें |
हृदय रोग संभाव्य, जीव बहरा हो जावे |
यह काया कंकाल, जाल में फंस न जाए |
इसीलिए अब जांच, आप नियमित करवाएं ||

Maheshwari kaneri ने कहा…

उपयोगी और बढ़िया जानकारी..आभार वीरु जी..

दिगम्बर नासवा ने कहा…

रोचक ... सब्लुक्सेशन ... नाम नया है पर आपने जिस अंदाज़ से लिखा है समझना आसान हो गया ...
राम राम जी ...

कुमार राधारमण ने कहा…

शरीर ही नहीं,परा-शारीरिक अनुभवों के लिए भी रीढ़ दुरुस्त होनी चाहिए।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

मेरे लिए तो यह शब्द ही नया है..... बड़ी अच्छी जानकारी.....

SM ने कहा…

informative post