शुक्रवार, 23 दिसंबर 2011

सेहत के नुश्खे

सेहत के नुश्खे
HEALTH TIPS
The fibre in french beans decreases the colon's re -absorption of cholesterol binding bile acids ,lowering cholesterol.
देखिए और जानिये सूक्ष्म पोषक पुष्टिकर तत्वों खाद्य रेशों ,विटामिनों और खनिजों का कमाल जो फराश बीन्स की फलियों में मौजूद रहतें हैं .ये तत्व खासकर रेशे हमारी आँतों द्वारा पित्त अम्लों के पुनर -अवशोषण (दोबारा ज़ज्बी ) को कम करतें हैं .यह बाइल एसिड्सही कोलेस्ट्रोल (खून में घुली चर्बी )से बंधकर कोलेस्ट्रोल के मौजूदा स्तर को कम करते हैं .
Strawberries are high in phenolic flavonoid phyto -chemicals which fight against cancer,aging ,inflammation and neurological diseases.
पादप रसायन (फाइटोकेमिस्ट्री )हमें बतलाती है पादपों से प्राप्त फिनोलिक फ्लावानोल (फ्लाव्नोइड )जैसे पादप रसायन जो स्त्राब्रीज़ में भरपूर होतें हैं एक तरफ कैंसर से मुकाबला करतें हैं दूसरी तरफ बुढापे को मुल्तवी रखतें हैं ,तरह तरह के रोग संक्रमणों तथा स्नायुविक रोगों से हमारी हिफाज़त करतें हैं .एंटी -ओक्सिदेंटों के तहत आतें हैं ये पादप रसायन .
Aubergine has potassium ,phosphorus ,folic acid ,calcium as well as beta-carotene.
देखिए बेंगन जी का कमाल :aubergine (BrE),Eggplant ,brinjal कहो या थाली का बेंगन गहरे रंग की यह तरकारी है बड़ी गुणी(बहुगुणा ).है .पता नहीं लोग क्यों मजाकिया लहजे में इसे बे -गुण भी कह देते हैं ,नाक भौं चढ़ा लेते हैं इसके नाम से ,ताना भी दते हैं बेंगन लेले .
ध्यान रहे गुणों की खान बैगन micro -nutrient पुष्टिकर तत्व पोटाशियम ,फोस्फोरस ,फोलिक एसिड तथा केल्शियम के अलावा बीटाकेरोटिन का भी खज़ाना है .गहरे रंग के फल और तरकारियाँ सूक्ष्म पुष्टिकर तत्वों से भरपूर हैं माने विटामिन ,खनिज ,और रेशे प्रचुर मात्रा में मुहैया करवातें हैं .
Turkey contains selenium which is essential for the healthy functioning of the thyroid gland and the immune system.(Turkey is a large bird that is often kept for its meat ,eaten specially at Christmas in Britain and at thanksgiving in the US
जी हाँ पीरु या टकि पुष्टिकर तत्व सेलिनियम की खान है .थायरोइड ग्रंथि के सुचारू आदर्श रूप काम करते रहने के लिए यह रामबाण है .अलावा इसके यह हमारे रोग रोधी तंत्र को भी मजबूती प्रदान करता है .
अभी के लिए इतना ही इंतज़ार कीजिए -बच्चों की सेहत के लिए कैसी है मुंबई ?कैसी है मुंबई के बच्चों की सेहत?

3 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बैगन को तो हम भी बेगुणी ही समझते थे।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

अच्छी सलाह ।
लेकिन ध्यान रहे , अति हर चीज़ की बुरी होती है ।
इसलिए संतुलित आहार की ज़रुरत होती है ।

यादें....ashok saluja . ने कहा…

वीरू भाई ,बैगन की तारीफ़ अच्छी लगी ,में तो इसका रायता बड़े चाव से खता हूँ | मुफ्त हुए बदनाम .....
राम-राम |