मंगलवार, 20 दिसंबर 2011

लो भैया जी नुश्खे ही नुश्खेसेहत के .

लो भैया जी नुश्खे ही नुश्खेसेहत के .
HEALTH TIPS:
Kiwi Fruit is a rich source of omega -3fatty acid that helps cure depression .
जी हाँ किवी को भी एक खट्टे फल के रूप में आजमाइए जो ओमेगा -३ वसीय अम्लों से भरपूर है अवसाद को दूर भगाता है .अलावा इसके भाई साहब यह विटामिन -सी का अव्वल स्रोत है जिसमे आंवले से भी पांच गुना ज्यादा विटामिन -सी मौजूद है .और हाँ पकने पर किवी मिठास से भर जाता है .मुलायम हो जाता है चीकू सा .
Cabbage contains vitamin C and folic acid ,which protects you from stress ,infection and heart disease and many types of cancers.
जी हाँ बंद गोभी विटामिन सी और फोलिक एसिड से भरपूर है .हर चंद यह आपका बचाव करता है तनाव से संक्रमण से और हृद रोग से कैंसर रोग समूहों से .अलावा इसके यह विटामिन -ई के लिए भी जाना जाता है जो जीवन क्षम है प्रजनन क्षमता के लिए अच्छा है .
तैलीय चमड़ी से बचाव के लिए :गुनगुने पानी में नीम्बू मिलाकर उससे चेहरा दिन में कई मर्तबा साफ़ कीजिए .जब भी पसीना आए स्वच्छ ठंडे जल से मुख धौ डालिए .
To get rid of oily skin ,wash your face with lemon juice diluted with warm water .
If you wish to lighten your skin tone ,rub a piece of apple on your face .
जी हाँ किन्नौर का हो या कुल्लू मनाली का या फिर कश्मीर का सेव आपकी चमड़ी के लिए भी अच्छा है इसका मुलायम गूदा धीरे धीरे चेहरे पर मलिए त्वचा में निखार आयेगा .कान्ति बढ़ेगी चेहरे की दमक बढ़ेगी .वोल्टेज बढेगा आपके चेहरे का .
RAM RAM BHAI !RAM RAM BHAI! RAM RAM BHAI ! RAM RAM BHAI !
DEC 20,2011.
मृत्यु का आलेख हैं ये प्रोटिनें.
(Protin in blood can help predict early death :Study/THE TIMES OF INDIA ,MUMBAI ,DEC 17,2011,P17).
हमारे खून में दो ऐसे जैविक मारकर्स(BIOLOGICAL MARKERS) -CYSTATIN C,तथा BETA TRACE PROTIN की पड़ताल की गई है जिनकाहमारे खून में विद्यमान स्तर मृत्यु की प्रागुक्ति (भविष्य वाणी ,PROGNOSTIC INFORMATION )
सिद्ध हो सकता है .
हमारी किडनियों )(गुर्दों )की दशा ही यह इत्तल्ला दे सकती है आगे जीवन की संभावना कितनी है आकस्मिक मौत का ख़तरा कितना है .यह तब होता है जब गुर्दे अपना काम ठीक से अंजाम नहीं दे पाते .गुर्दों की दशा का बोध उनकी निथारने की क्षमता,और दर से (FILTRATION RATE )से पता चलता है .लेकिन यह कोई आसान काम नहीं है गुर्दों के फंक्शन का ठीक ठीक जायजा लेपाना ..इसीलिए खून में मौजूद एक प्रोटीन CREATININE के स्तर का जायजा लिया जाता है .
लेकिन अब इल्म हुआ है उल्लेखित दोनों प्रोटिने CYSTATIN C तथा BETA TRACE PROTIN गुर्दों के अलावा आदमी की सेहत के बारे में और भी कुछ कहतीं हैं जानतीं हैं .THE JOURNAL OF THE AMERICAN SOCIETY NEPHROLOGY ने इसे प्रकाशित किया है .
अध्ययन से प्राप्त आंकड़ों का विश्लेषण TUFTS UNIVERSITY MEDICAL CENTRE के MARK SARNAK और NAVDEEP TANGRI एवं उनके साथियों ने किया है .इन्होनें गुर्दों के रोगों में खुराक में संशोधन के असर का अध्ययन किया था .
इस एवज ८१६ गुर्दों के मरीजों पर १६.६ बरसों तक नजर रखी गई .इसी दौरान इनदोनों MARKERS के स्तर का पता चला .
पता चला गुर्दों की निथारने की दर से सर्वथा स्वतंत्र रूप भी जिन मरीजों में CREATININE का स्तर ज्यादा था बेशक उनके किडनी फेलियोर की संभावना ज्यादा थी लेकिन मृत्यु का ख़तरा कम ही था .
जबकि जिन मरीजों में CYSTATIN C और BETA TRACE PROTIN का स्तर ऊंचा था उनके किडनी फेलियोर के अलावा मौत का ग्रास बनने का जोखिम भी ज्यादा था .
इसका मतलब यह हुआ कि CREATININE ,CYSTATIN C और BETA TRACE PROTIN गुर्दों के अलावा भी सेहत का हाल बयान करतें हैं ,जीवन मृत्यु का लेखा बांचतें हैं . लेकिन BETA TRACE PROTIN और CYSTATIN C बेहतर PROGNOSIS प्रस्तुत करतें हैं CREATININE के बरक्स .अच्छे भविष्य वक्ता हैं .

10 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हमें लगता है कि आपके लेख पढ़ने से ही स्वास्थ्य ठीक होने लगता है।

रेखा ने कहा…

जानकारियों से भरी हुई पोस्ट ...साथ ही नुस्खे भी मुफ्त में मिल रहे हैं ............आभार आपका

"जाटदेवता" संदीप पवाँर ने कहा…

राम-राम

Arvind Mishra ने कहा…

शुक्रिया

डॉ टी एस दराल ने कहा…

अज़ी आजकल तो सब्जी मंडी में इतनी सब्जी उपलब्ध है कि कुछ ना सोचो , बस खरीदो और खाओ । क्योंकि ऐसा अवसर सिर्फ सर्दियों में ही मिलता है ।
बाकि तो सब्जियां अपना काम खुद ही करेंगी ।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बड़े काम हैं सभी नुस्खे...... अच्छी जानकारी

Rajeev Panchhi ने कहा…

नुश्खे pasad aaye! Thanks Veeru ji!

SM ने कहा…

nice tips

डॅा वेदप्रकाश श्योराण ने कहा…

नुस्खे मुफ्त में मिल रहे हैं thanks

Anita ने कहा…

बढिया नुस्खे! आभार!