मंगलवार, 23 अप्रैल 2013

आरोग्य प्रहरी


आरोग्य प्रहरी 

(१ )एक अभिनव शोध में रिसर्चरों ने पता लगाया है ,आम में मौजूद रहतें हैं ऐसे एंटीओक्सिडेंट यौगिक (Antioxidant compound)जो बड़ी आंत के अग्र भाग (Colon ),स्तन ,रक्त एवं पुरुषों की प्रोस्टेट ग्रंथि के कैंसर से बचाने में समर्थ हैं .

(२)करी पत्ता विटामिन -A ,केल्शियम और फोलिक एसिड का बढ़िया स्रोत है ,सफ़ेद मोतिया को जल्दी जड़ न बनाने देने में यह कारगर रहता है .सफ़ेद मोतिया बोले तो उम्र के साथ आँख के लैंस  का धुंधला जाना है .

(३ )EATING BERRIES PROTECTS AGAINST MENTAL DECLINE 

A study has found that berries seem to promote autophagy ,the brain's natural housekeeping mechanism ,reducing the toxic accumulation .Diets supplemented with strawberries have also shown to improve behaviour and cognitive functions in stressed rats.

Autophagy is a self-degradative process that is important for balancing sources of energy 

at critical times in development and in response to nutrient stress. Autophagy also plays a 

housekeeping role in removing misfolded or aggregated proteins, clearing damaged 

organelles, such as mitochondria, endoplasmic reticulum and peroxisomes, as well as 

eliminating intracellular pathogens.



(४)रवा (सूजी ,semolina )में अल्पांश में मौजूद रहते हैं ज़रूरी खनिज लवण फोस्फोरस ,जिंक ,मैग्नेशियम 

जो 

हमारी अस्थियों की बढ़वार के लिए आवश्यक मिनरल्स की श्रेणी में आते हैं ,स्नायुविक तंत्र की सेहत को भी 

दुरुस्त रखते हैं .

(५ )टमाटर न केवल हमारे यकृत को Liver cirrhosis से बचाए रहते हैं पित्ताशय की पथरी को भी घुलाने 

में मदद गार सिद्ध होतें हैं .

(६ )बादाम में मौजूद रहता है पोटेशियम जो रक्त चाप को नियंत्रित रखता है .

(७ )अखरोट में मौजूद ओमेगा ३ वसीय अम्ल (Omega 3 fatty acids )दिमाग की सेहत को दुरुस्त रखते हैं 

,पुष्ट करते हैं दिमाग को .

(८ )SOCIAL GAMES PROMOTE HEALTHY BEHAVIOUR 

Video games have some sort of social aspect leads people to exercise more frequently 

and helped them decrease their body -mass -index ,according to new research 

.Interestingly ,body mass index did not change after the program ended.

(९ )पाचन को दुरुस्त रखने के लिए रात  का खाना  सोने से दो घंटे पहले ज़रूर खा लेना चाहिए .

(१ ० )Overzealous scrubbing of the face can make you look younger .Be gentle.


गूदड़ों में लाल :  

शख्शियत :शकुन्तला देवी 

असाधारण गणितीय प्रतिभा की धनी शकुन्तला देवी  का बेंगलुरु में २ १ अप्रैल २० १ ३ को ७ ३ वर्ष की आयु

में निधन हो गया .उन्हें सांस की तकलीफ के चलते अस्पताल में भर्ती किया गया था जिसके बाद उन्हें दिल

की तकलीफ होने के बाद शनिवार शाम दिल का का दौरा पडा था इससे वह उबर न पाईं .बेंग्लरू अस्पताल

में उन्होंने अगले दिन इतवार को शरीर छोड़ दिया .हालाकि उन्हें सांस लेने की मशीन पे रखा गया था

लेकिन इसके बाद उन्हें दूसरा दौरा पड़ा था .

पेचीला अंकगणीतिय सवालों के हल वह पलक झपकते ही प्रस्तुत कर देतीं थीं .१ ९ ७ ० और १ ९ ८ ० के

दशकों में आपने पूरे विश्व को अपने इस अ -साधारण कौशल से विस्मित किया था  .

उनकी असाधारण प्रतिभा के आगे अति -विकसित द्वि अंकीय डिजिटल प्रणालियाँ भी बौनी साबित हो गईं

थीं .

पुरोहिताई करने वाले एक पुरातनपंथी परिवार में आप चार नवम्बर १ ९ ३ ९ को बेंगलुरु में जन्मी थीं .शायद

उनमें असाधारण जीवन इकाइयां (जींस ,जीवन खंड )अपने पिता से चली आईं  थीं जिन्होनें पंडिताई का

परम्परा गत पेशा न अपना कर अपना रास्ता खुद बनाया और सर्कस कलाकार बन गए .आपको सर्कस के

झूलों पर कलाबाजी करने ,कसी हुई रस्सी पर करतब दिखाने तथा बड़ी तोप के प्रदर्शन में महारत हासिल थी

.शकुन्तला देवी उस वक्त सिर्फ तीन साल की थीं और जमा जोड़ की बला की क्षमता लिए थीं .

पांच साल की उम्र में उनकी ये पेचीला जमा जोड़  की समस्याओं के जुबानी हल निकालने की कुशलता चरम

पर थी .

उनकी मशहूरी तब परवान चढ़ी जब आपने एक मुकाबले में पेचीला अंकगणीतिय गणना करने में उस वक्त

के तेज़ तर्रार कंप्यूटर जी को दस सेकिंड की शिकस्त दे दी .

दो तेरह अंकीय संख्याओं को मात्र २ ८ सेकिंड में गुणा करके सही गुणनफल निकालके आपने गिनेज़ बुक

आफ रिकार्ड में अपना अप्रतिम स्थान बनाया .

कहते हैं न गूदड़ों (गुदड़ों )में लाल कहाँ छिपते हैं 

आर्थिक तंगी  के चलते उन्हें दस साला होने पर ही संत थेरेसा कोंवेंट चमाराजपेट (Chamarajpet)कक्षा १ में

भर्ती किया जा सका .माँ बाप के पास स्कूल की फीस (शुल्क मात्र दो रुपया प्रति माह )देने के लिए भी पैसे

नहीं थे लिहाजा तीन माह के बाद ही उन्हें स्कूल से चलता कर दिया गया .

तकरीबन तकरीबन गुट्टाहल्ली का झोंपड पट्टी नुमा इलाका ही था गाविपुरम जहां आपका लालन पालन

हुआ .

एक गणित विश्वविद्यालय और शोध एवं विकास केंद्र खोलना आपका स्वप्न था जहां अभिनव तकनीकों

के  ज़रिये जनमानस को पेचीला गणीतिय सवालों के हल करने के शोर्टकट्स और प्रभावशाली स्मार्ट तरीकों

में प्रवीण बनाया जा सके .

टाइम्स आफ इंडिया के साथ एक बात चीत में आपने कहा था -मैं अपनी  क्षमता तो लोगों को अंतरित नहीं

कर

सकती लेकिन एक संख्यात्मक रुझान तेज़ी से विकसित कर लेने में मैं जनसामान्य की मदद ज़रूर कर

सकती हूँ .बड़ी संख्या है ऐसे लोगों की जिनकी तर्क शक्ति का दोहन नहीं किया जा सका है .

आप इस मिथक को तोड़के महाप्रयाण यात्रा पर निकल गईं हैं कि लड़कियों का हाथ गणित में तंग होता है .

सन्दर्भ -सामिग्री :-Shakuntala Devi ,maths prodigy dies at 73 /THE TIMES OF INDIA ,MUMBAI ,APRIL 2 2 ,20 13 P 1 1.


Memorizing Cards at Age 3

Shakuntala Devi


For all of you who are wondering how did Shakuntla Devi's magical mathematical abilities get discovered, the answer lies in a simple game of cards. Her father was a circus artist and one day, while he was indulging his 3 year old daughter with a game of cards, he discovered her calculation abilities. It turns out that the 3 year old Shakuntala Devi beat her father , not by sleight of hand, but by memorizing the cards.


Shakuntala Devi's talent couldn't be kept under wraps for long and her reputation of being a young mathematical genius spread far and wide. At the age of 6, she demonstrated her calculation skills in her first major public performance at the University of Mysore and two years later, she again proved herself successful as a child prodigy at Annamalai University.


She had the ability to tell the day of the week of any given date in the last century in a jiffy.

In 1977, she calculated the 23rd root of a 201-digit number in just 50 seconds. For this mind-boggling feat, she received a standing ovation from an audience of learned mathematicians.

On June 18, 1980 she demonstrated the multiplication of two 13-digit numbers 7,686,369,774,870 x 2,465,099,745,779 picked at random by the Computer Department of Imperial College, London. She answered the question in 28 seconds. Her correct answer to this multiplication sum was 18,947,668,177,995,426,462,773,730 setting up a Guinness World Record.

4 टिप्‍पणियां:

डॉ टी एस दराल ने कहा…

वाह ! वन इन आल पोस्ट में बहुत सी काम की जानकारियां हैं।

भोजन जितना सादा रहेगा,
जीवन उतना ज्यादा रहेगा।

Anupama Tripathi ने कहा…

Very useful informations .
Thanks .

Shalini Rastogi ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी ... स्वाद के साथ में स्वास्थ्य !

Anita ने कहा…

शकुंतला देवी के बारे में इतनी बहुमूल्य जानकारी के लिए बहुत बहुत आभार..श्रद्धांजलि इस अनोखी गणितज्ञ के लिए..