शनिवार, 14 जुलाई 2012

नुस्खे सौन्दर्य के

beauty bites

नुस्खे सौन्दर्य के  

Coffee for your skin ,not your cup

कॉफ़ी के पादप से फसल लेने के दरमियान कोफ़ी -बेरी (Coffeeberry)  उत्पाद  के रूप में मिलती है .हमारी त्वचा की देखभाल में इसे बहुत जन प्रिय घटक के रूप में मान्यता प्राप्त है .हर्बल और वानस्पतिक यह जादुई घटक एंटी -ओक्सिडेंट से लबालब है .

Bell peppers  as beauty treatment?

फल  और  तरकारियाँ  आपकी  सेहत  के  लिए  ही  नहीं  रंगत और नूर के लिए भी ज़रूरी हैं .साइंस जर्नल PLos ONE में प्रकाशित एक ताजातरीन अध्ययन का यही सन्देश है .
स्काट लैंड  के रिसर्चरों ने पता लगाया है कि वह  Caucasians जिनकी खुराक में Carotenoids(the yellow -red pigments found in many fruits and vegetables ) ज्यादा शामिल रहता है उनकी चमड़ी ज्यादा दमकती है रिच स्किन टोन  लिए रहती है .देखते ही बनती है इनकी रंगत .रौनकी और आकर्षक चेहरा लिए रहतें हैं ये लोग .औरों के बरक्स rosier skin tones लिए रहतें हैं ये लोग . 

क्यों  हो  जाती  है  आपकी  त्वचा   तैलीय 

हमारी चमड़ी के नीचे रहती है तैलजनक ग्रन्थियां   (सिबेशस ग्लेंड ,Sebaceous  glands)  .ये  ग्रन्थियां एक स्निग्ध मोमिया पदार्थ बनाती हैं सीबम इसीलिए इन्हें वसामय ग्रन्थि भी कह  दिया जाता है .

चिकनाने और वाटर प्रूफ बनाने का काम करता है यह वसामय पदार्थ हमारे बालों ,केश राशि और चमड़ी को .

अलावा इसके यह हमारी त्वचा को विटामिन ई मुहैया कराता है गर्म और शुष्क मौसम में त्वचा की नमी को रोके रखने में मदद करता है .

लेकिन इसका आधिक्य हमारी चमड़ी को कथित तैलीय चमड़ी बना देता है .

Don't spray perfume on your wrists and rub them together .Doing so can break down the scent's notes. 
 

20 टिप्‍पणियां:

Anupama Tripathi ने कहा…

बढ़िया जानकारी...

Reena Maurya ने कहा…

अब तो मै हरी सब्जीया नियमित खाउंगी
बहूत बढीया जानकारी :-)

lokendra singh rajput ने कहा…

ये तो सबके मतलब के नुस्खे हैं...

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

क्या बात है वाह!
आपकी यह ख़ूबसूरत प्रविष्टि दिनांक 16-07-2012 को सोमवारीय चर्चामंच-942 पर लिंक की जा रही है। सादर सूचनार्थ

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बढ़िया नुस्खे....

Arvind Mishra ने कहा…

आपसे बड़ा सौन्दर्य -रस पारखी कौन :-) सो उसकी चिरन्तनता की फ़िक्र आखिर क्यों न हो !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बड़ी रोचक, बड़ी प्राकृतिक..

डॉ टी एस दराल ने कहा…

हमारे दादाजी कहा करते थे -- जिसे भगवान ने सुन्दर बनाया हो , उसे किसी सौन्दर्य प्रसाधन की ज़रुरत नहीं होती . लेकिन यह सच है -- मेंटेनेन्स की ज़रुरत तो होती है . हमारा खानपान इसमें बहुत मदद करता है .
एक और अच्छी जानकारी वीरुभाई जी .

सुशील ने कहा…

वीरू भाई आज बहुत ही
काम की चीज लाये हैं
सौन्दर्य की बाते हैं
इसलिये श्रीमति जी
को हम दे आये हैं ।

रविकर फैजाबादी ने कहा…

sushil ji ki tippani par-

उनके चेहरे की रंगत, आकर्षण यह काया का |
कॉफ़ी-बेरी से आया या, तरकारी रविकर की खाई ||
फल जैसा पहले धोई थी, छिलके के संग ही काट दिया-
कांटे से टुकड़े फंसा फंसा , तब तो यह रौनक पाई ||

दिगम्बर नासवा ने कहा…

तो बेल पेपर का इस्तेमाल बढा दिया जाय आज से ... लाजवाब जानकारी ... राम राम जी ...

dheerendra ने कहा…

नुस्खा ले सौन्दर्य का चेहरा लेय निखार
हरी सब्जिया खाएं सदा,सेहत लेय सुधार,,,,,,

शालिनी कौशिक ने कहा…

.बहुत सुन्दर प्रस्तुति .आभार. अपराध तो अपराध है और कुछ नहीं ...

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

फल-सब्जी को खाइए, निखर जाएगा रंग।
तला-भुना खाकर नहीं, होता निर्मल अंग।।

Maheshwari kaneri ने कहा…

नुस्खा-ए-सौन्दर्य.. बहुत बढ़िया जानकारी...वीरु भाई.आभार

सदा ने कहा…

वाह ... बेहतरीन प्रस्‍तुति आभार

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

बहुत बढ़िया जानकारी ... बिना प्रयास के ही सब सुंदरता की श्रेणी में आ जाएंगे

यादें....ashok saluja . ने कहा…

मेरे वीरू भाई के नुस्खे अपनाइए
अपनी सेहत,सुंदरता को बढाइये ..
आभार !

SM ने कहा…

बढ़िया जानकारी

संजय भास्कर ने कहा…

वाह..बहूत बढीया जानकारी :-)