गुरुवार, 21 जून 2012

सेहत के लिए उपयोगी फ़ूड कोम्बिनेशन

सेहत के लिए उपयोगी फ़ूड कोम्बिनेशन 

जिस तरह हम मनुष्यों में परस्पर सहजीवन दोनों का संवर्धन करता है ऐसे ही कुछ खाद्यों का संग साथ  हमारी सेहत के लिए बड़ा लाभकारी सिद्ध होता है .आईये जानते हैं क्या कहतीं हैं इस बारे में आहार विशेषज्ञा (डाईट -ईशियन)शीला टन्ना:

(१)TURMERIC AND SALMON

हल्दी में जख्म को तेजीसे भरने के गुण हैं ,सोजिश भी उतारती है हल्दी .एक एंटी -इन्फ्ले -मेट्री- एजेंट का काम करती है  हल्दी .रुपहली त्वचा और लाल मांस वाली सामन मछली आकार में खासी बड़ी होती है .इसमें कार्बो -हाई -ड्रेट्स बनिस्पत  कम होतें हैं प्रोटीन लबालब .हल्दी और बड़ी सामन मछली का संग साथ सामन में मौजूद ओमेगा थ्री फेटि एसिड्स (ओमेगा ३ वसीय अम्लों को ) को और भी असरकारी बना देता है .

यह हमारे स्नायुविक तंत्र को एजिंग के असर से ,बुढ़ाने के प्रभावों से बचाए रहता है .

खून में घुली और जमा अच्छी चर्बी (दिल के मुफीद जो ठहरती है )HDL CHOLETEROL के  स्तर   को  बढ़ाकर यह हमारी धमनियों को खुला और साफ़ सुथरा रखता  है दिल के लिए खराब समझे गए LDL CHOLESTEROL को धमनियों में जमा होकर उन्हें अवरुद्ध होने से रोकता है .

कैंसर गांठ की वृद्धि ट्यूमर  सेल्स को द्विगुणित होने से भी रोकता है ओमेगा थ्री फेटि एसिड्स के संग हल्दी का जोड़ .

(२)WHOLE GRAINS AND ONIONS

कोई माड़ा भोजन नहीं है प्याज रोटी 

गाडुले लुहार प्यार से खाते हैं इसे सेहत मंद रहतें हैं .
  
    मक्का  (मकई ),ब्राउन राईस ,जौ ,गेहूं जैसे मोटे अनाजों में लौह तत्व आयरन और जिंक खनिज अलग अलग मात्राओं में रहतें हैं .सल्फर यौगिकों की मौजूदगी में हमारा कायिक तंत्र इन दोनों की ज़ज्बी बेहतर तरीके से करता है .

प्याज में यही सल्फर यौगिक इफरात से रहतें हैं इसीलिए प्याज तराशते वक्त आँखों से पानी बहने लगता है .

हम जानते है आयरन ब्लड सेल्स का एक एहम हिस्सा है यही फेफड़ों से ऑक्सीजन लेकर पेशियों और अन्य अंगों तक पहुंचाता है .ऑक्सीजन का वाहन है यही लौह तत्व .

जिंक जख्मों को भरने में मददगार सिद्ध होता है .

अलावा इसके प्याज में मौजूद रहतें हैं एंटी -ओक्सिदेंट्स और विटामिन सी जो अनाजों से लौह तत्व के अवशोषण  को सुगम बनातें हैं .

मोटे अनाज विटामिन ई से भी भरपूर रहतें हैं .विटामिन सी के साथ इसका योग हमारी चमड़ी की सेहत के  लिए बड़ा अच्छा रहता है .

यही संग साथ सहजीवन मोटे अनाजों का उन तरकारियों के संग भी बहु उपयोगी हो जाता है हमारी  सेहत  के  लिए  जिनमे मौजूद रहता है विटामिन सी यथा गाज़र ,बंद गोभी ,मटर,काशीफल (सीताफल ,कद्दू या PUMPKIN )  आदि .

(ज़ारी ..)



बेहतर सेहत के लिए फ़ूड कोम्बिनेशन 

BROCCOLI AND MUSTARD


विटामिन   सी का बढ़िया स्रोत है ब्रोक्काली .अलावा इसके इसमें मौजूद हैं एंटी -ओक्सिडेंट तथा एक बहुत ही काम का यौगिक  SULFORAPHANE.इस कम्पाउंड में कैंसर तथा मधु मह रोधी गुण हैं .सल्फोराफेंन   की ज़ज्बी एक किण्वक (एंजाइम )की मौजूदगी में बेहतर तरीके से करती है हमारी काया .यह एंजाइम MYROSINASE सरसों (MUSTARD) में  बहुलता  में  मौजूद  रहता  है  . 

दोनों का संग साथ ब्रोक्काली और सरसों का हमें बचाता है -

(१)मूत्र क्षेत्र के संक्रमण (URINARY TRACT INFECTIONS)से .

(२)INFECTIONS IN EXCRETORY SYSTEM .

(3)DIGESTIVE SYSTEM AND 

 (4)INFECTIONS OF THE COLON  .



सेहत के हिसाब से आला है टमाटर और जैतून का तेल 

विटामिन सी का स्रोत टमाटर बेहतरीन एंटो -ओक्सिडेंट लाइकोपीन (lycopene)से  भी भरपूर है .

लाइकोपीन एक छोर पर सफ़ेद मोतिया (CATARACTS)के जोखिम को कम करता है दूसरे  छोर  पर  अस्थि क्षय (OSTEOPOROSIS)से भी बचाव करता है .कैंसर के खिलाफ भी बचावी कदम है इसका सेवन तथा बुढ़ाने के खिलाफ भी .

उधर एंटी -ओक्सिडेंट से युक्त जैतून का तेल भी HDL CHOLESTEROL  के   उत्पादन को बढाने में मददगार रहता है .


जैतून तेल की मौजूदगी में लाइकोपीन की ज़ज्बी सुचारू रूप होती है इससे दिल को बड़ा फायदा पहुंचता है .यह रक्त(खून ) को साफ़ करता है .पित्ताशय की पथरी को घुला के खत्म कर देता है .

दोनों का बढ़िया गठ जोड़ यकृत के प्रकार्य को  भी बेहतर बनाता है .यकृत प्रोटीन का संसाधन बेहतर करने लगता है .शरीर से विषाक्त पदार्थों की निकासी में भी तेज़ी आती है .

समझा जाता है यह गठ जोड़ हाई -पर -टेंशन (उछ रक्त चाप )को भी कम करता है .





COMBO JUMBO 

Like human beings ,foods can also bring out the best in each other ,nutritionally speaking.Read on to find out who should date whom for your good health

yOU/MumbaiMIRROR ,JUNE 21,2012/www.mumbaimirror.com/you

BEANS AND GREENS  

   फलियाँ  प्रोटीन और आयरन के बढिया और प्रचुर स्रोत है .इनका विटामिन सी युक्त हरी तरकारियों के साथ योग मसलन पालक ,अंकुरित चीज़ें और आलू आदि के साथ इन्हें पकाया जाना वजन घटाने में सहायक सिद्ध होता है .

कार्बो -हाई -ड्रेट्स तथा वसाओं के बरक्स हमारा शरीर प्रोटीनों के अपचयन में तीन गुना ज्यादा एनर्जी  खर्च करता है .

विटामिन सी युक्त खाद्य अकेले इतना असरकारी सिद्ध नहीं होतें हैं लेकिन क्योंकि इनमे जल में घुलन शील पुष्टिकर तत्व होतें हैं इसलिए यह लो केलोरी फ़ूडमें  शुमार किए जातें हैं .

बीन्स और वेजिटेबिल्स का योग आपकी तौल को नहीं बढ़ने देगा .

अलावा इसके फलियों में मौजूद लौह तत्व की ज़ज्बी तरकारियों से प्राप्त विटामिन सी की मौजूदगी में बेहतर होती है .






12 टिप्‍पणियां:

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी...आभार

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

एकदम नयी जानकारी..

मनोज कुमार ने कहा…

आपके टिप्स काफ़ी मददगार साबित होते हैं।

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

bahut mahatvpurn jankari .....

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

आपकी हर पोस्ट कुछ न कुछ नयी जानकारी देती है ... आभार

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

Badhiya Jankari....

Shanti Garg ने कहा…

बहुत बेहतरीन रचना....
मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

गर्भवती महिलाओं और बच्चों के लिए गुड चना / मूंगफली -- प्रोटीन और आयरन का बढ़िया श्रोत होता है .
बढ़िया जानकरी वीरुभाई जी .

Anita ने कहा…

प्याज रोटी खाओ प्रभु के गुण गाओ..साथ में .मोटा अनाज, ब्रोकोली, रंगीन सब्जियां और हल्दी...कितना आसान तरीका है सेहत बनाने का...आभार इस जानकारी के लिये..

Reena Maurya ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन जानकारी....
धन्यवाद....
:-)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (23-06-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!

अनामिका की सदायें ...... ने कहा…

BROCCOLI ye kya hai samajh me nahi aaya.

baki bahut upyogi jaankari.

aabhar.