रविवार, 17 जून 2012

विज्ञान विविधा में आज नुस्खे सेहत के और बहुत कुछ

विज्ञान विविधा में आज नुस्खे सेहत के और बहुत कुछ 

नुस्खे सेहत के 

(१)ब्लेक हेड्स से बचाव के लिए शहद को थोड़ा सा गुनगुना करके असर ग्रस्त हिस्से पर लगाएं .१५ मिनिट बाद चेहरा साफ़ पानी से धौ डालें .

(२)अनिद्रा से बचाव के लिए रात को सोते वक्त हरे ताज़े धनिये का पेस्ट खाके सोइए .बतलादें आपको  हरा धनिया कोलेस्ट्रोल भी कम करता है ,

(३)गुणकारी है ग्रीन ज्यूस :पचास ग्राम हरा धनिया ,१० -२० ग्राम चुकंदर ,२० ग्राम पोदीना ,५०ग़ाम   बंद गोभी ,२० ग्राम पालक या चौलाई या मैथी के पत्ते ,या कोई भी और हरे पत्ते स्थानीय तौर पर उपलब्ध और खाद्य ,२-५ ग्राम अदरक ,१०-२० तुलसी पत्ते मिक्सी में पीसकर छान लें .नीम्बू ,थोड़ा सा स्वादानुसार नमक और एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर सेवन करें . कोलेस्ट्रोल कम करता है यह ग्रीन ज्यूस ,गैस की शिकायत दूर करता है .कब्ज़ से भी राहत दिलवाता है .


(४)ग्रीन चाय :एक कप चाय तैयार करने के लिए डेढ़ कप पानी लें इसमें १०-२० पत्ते ताज़े पोदीने के ५-१० पत्ते तुलसी के एक काली मिर्च पीसकर डालें .एक चम्मच लिप्टन ग्रीन लीव्स डालें (यह कुदरती चाय होती है )उबाल कर मात्रा में आधा कर लें .

अब इतना ही ताज़ा पानी लें इसमें शहद एक से दो चाय चम्मच भरके मिलाएं (मधुमेह से ग्रस्त न हों, तब दो चम्मच से फ़ालतू भी ले सकतें हैं ,मधुमेही सिर्फ आधा चम्मच लें ) थोड़ा सा नीम्बू मिला लें अब दोनों को मिलाकर पिए .धमनी को खुला (ओस्तियल सेगमेंट के पास नाईटरेट्स बनाकर )रखती  है ग्रीन चाय .यही काम सोर्बित्रेट या कोई और जीभ के नीचे रखी जाने वाली  सब लिंगुअल  गोली आइसो -सॉर बाइड करती है . ये भी मोनो /डाई /फाइव नाईट रेट्स ही होतें हैं .

(५) तैलीय  बालों   के लिए :गाज़र को कूट लें .अब इस पेस्ट को खोपड़ी में ऊंगलियों के पौरों से मल लें .१५ मिनिट  बाद सर धौ लें .

(६)चेहरे की ग्रीज़ी स्किन से छुटकारे के लिए दही और टमाटर के अर्क का फेस पेक लगाइए .

(७)पेट की गड़बड़ियों से राहत के लिए मिंट टी को अपने सुवेरे की पहली ड्रिंक बनाइये .ग्रीन चाय पोदीना फ्लेवर में आसानी से उपलब्ध है .

(८)कील मुंहासों से निजात के लिए 

यीस्ट और लेमन को मिलाकर कील मुहांसों  पर मलें .पन्द्रह  मिनिट बाद चेहरा धौ डालें.
(९)कील मुहांसों के दागों     से छुटकारे  के लिए लहसुन का अर्क दाग दाग धब्बों पर मलिए .

(१०)रूखे कुदरती चिकनाई की कमी वाले बालों में शहद ,एवोकाडो ,अंडे की ज़र्दी (एग यलो ,एग योक )तथा ओलिव आयल से तैयार किया गया मास्क लगाएं .४५ मिनिट बाद सर धौ डालें .

(११)दुर्गन्ध सांस (बेड ब्रेथ ) से राहत के लिए 

  ताज़े पोदीने के कुछ पत्ते गर्म पानी के साथ खा जाएं .मुख से आने वाली बदबू से राहत मिलेगी .

(१२)मुक्तावली की आब के लिए टूथ पेस्ट पे  थोड़ा सा खाना सोडा (बेकिंग पाउडर )बुरक दें .शीशे में देखके पेस्ट करें ताकि एक दो मिनिट तक आप दांतों की टिक के सफाई कर सकें .

ब्रेस्ट मिल्क खात्मा करदेता है HIV  विषाणु  का 

एक नए अध्ययन के अनुसार माँ से नवजात को प्राथमिक आहार के रूप में स्तन  पान के बतौर उपलब्ध होने वाले दूध में कुछ ऐसे तत्व मौजूद रहतें हैं जो माँ से नवजात को होने वाले एच आई वी संक्रमण को मुल्तवी रख सकते हैं . 

एक अनुमान के अनुसार नए संक्रमणों में १५ % से भी ज्यादा भागेदारी बच्चों की ही रहती है .इलाज़ मयस्सर न हो पाने की स्थिति में इन संक्रमण पकड चुके बच्चों में से ६५ %ही अपना पहला जन्म  दिन देख पाते हैं .५०% से भी कम दूसरा .

बेशक         स्तन पान भी इनमे से  कितने ही मामलों में खुद संक्रमण की भी  ही वजह बनता है .लेकिन बहुलांश में जिन बच्चों को स्तन पान मयस्सर  होता है उनमे से ज्यादातर या फिर उनका  बड़ा हिस्सा इस संक्रमण से बचा रहता है .

जबकी बार बार स्तन पान के ज़रिये ही उनका एच आई वी से सामना होता है प्रभावन या एक्सपोज़र होता है .

नोर्थ केरोलिना यूनिवर्सिटी के स्कूल आफ मेडिसन के अनुसार माँ के स्तन पान से उपलब्ध होने वाले दूध में विषाणु का खात्मा करने वाले तत्व मौजूद रहतें हैं .स्तन पान एच आई वी के ओरल ट्रांसमिशन से बचाए रहता है .



बिरला रोग है वह 

ब्रिटेन के वेस्ट मिड लेंड्स रीजन के टेलफोर्ड की रहने वाली है वह १५ साला किशोरी जो अन -अभिप्रेत बे -इरादा ,अन -चाहे ही अप्रेल माह में गहन निन्द्रा में प्रवेश कर गई थी .गत सप्ताह ही उसकी निद्रा टूटी है .इस किशोरी का नाम है  Stacey Comerford .इस  दरमियान उसका जन्म दिन भी पड़ा था ,परीक्षाएं भी .

एक बहुर ही बिरले स्नायुविक विकार (neurological disorder ) से  ग्रस्त   हो  गई  है Stacey जिसमे  व्यक्ति अयाचित ही बिना चाहे ही कुम्भकर्णी निद्रा में चला जाता है .महीनों तारी रहती है यह निद्रा .इस बिरले स्नायुविक रोग को कहा जाता है ,'Kleine Levin Syndrome'

इसे कभी कभार 'Sleeping beauty syndrome'  भी कह दिया जाता है .चिकित्सा दस्तावेजों में दुनिया भर में मात्र इसके १००० मरीज़ दर्ज़ हैं .

स्कूल इस मर्तबा अंश कालिक ही जा पायेगी यह किशोरी .पार्ट टाइम स्कूल में ही दाखिला लेने की सोची है उसने .उसे याद है  उसके साथी उसे किस कदर बे -रहमी से चिढाया करते थे .ताना कशी करते थे उसकी बीमारी को लेकर .

पूरे नौ एग्जाम्स नहीं दे सकी है वह इस रोग की वजह से ही . अपना जन्म दिन भी  कहाँ मना पाई वह .अब जाके उन लोगों को पता चला है यह सिंड्रोम है क्या  वही जो उसका मज़ाक उड़ाया करते थे  .

बिरला रोग है वह 


Kleine-Levin Syndrome or KLS (also known as Sleeping Beauty Syndrome) is a neurological disorder characterized by recurring periods of excessive amounts of sleeping and eating. At the onset of an episode the patient becomes drowsy and sleeps for most of the day and night (hypersomnolence), waking only to eat or go to the bathroom. When awake, the patient’s whole demeanor is changed, often appearing “spacey” or childlike[citation needed]. They also experience confusion, disorientation, complete lack of energy (lethargy), and lack of emotions (apathy). Individuals are not able to attend school or work or care for themselves. Most are bedridden, tired, and uncommunicative even when awake.
Most patients report that everything seems out of focus, and that they are hypersensitive to noise and light. In some cases, food cravings (compulsive hyperphagia) are exhibited. In males, instances of uninhibited hypersexuality during episodes have also been reported. In females, instances of depression have been reported.[1]
Affected individuals may go for a period of weeks, months or even years without experiencing any symptoms, and then they reappear with little warning. In between episodes those diagnosed with KLS appear to be in perfect health with no evidence of behavioral or physical disfunction.
The cause of Kleine-Levin syndrome is not known. Thus, family support and education are the best management currently available.[2][3]

Zee News
  1. 'Sleeping Beauty' Stacey Comerford slept in April woke up in June

    DigitalJournal.com‎ - 1 hour ago
    According to the National Institute of Neurological Disorders and Stroke,

13 टिप्‍पणियां:

Reena Maurya ने कहा…

बहुत ही अच्छी अच्छी जानकारी दी है अपने...
उपयोगी जानकारी
बहुत ही बढ़िया पोस्ट
:-)

SM ने कहा…

nice useful info
like the green tea method

Anupama Tripathi ने कहा…

very useful tips ..

Thanks .

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

upyogi jankari...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वाह, बहुत उपयोगी सलाह..

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

उम्‍दा जानकारि‍यां दी हैं आपने

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बहुत काम के नुस्खे हैं . हालाँकि कभी आजमाए नहीं .

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बहुत काम के नुस्खे हैं . हालाँकि कभी आजमाए नहीं .

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी....

Dr.R.Ramkumar ने कहा…

एक बहुर ही बिरले स्नायुविक विकार (neurological disorder ) से ग्रस्त हो गई है Stacey जिसमे व्यक्ति अयाचित ही बिना चाहे ही कुम्भकर्णी निद्रा में चला जाता है .महीनों तारी रहती है यह निद्रा .इस बिरले स्नायुविक रोग को कहा जाता है ,'Kleine Levin Syndrome'


बहुत बढ़िया प्रस्तुतिकरण

इस निद्रा को सही नाम दिया आपने। ‘कुंभकर्णी निद्रा’ आलेख का अध्ययन करते समय इस रोग के लिए यही नाम मेरे मस्तिष्क में आया था।

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत ही अच्छी और उपयोगी जानकारी दी है वीरु जी अपने...आभार...

udaya veer singh ने कहा…

रोचक ज्ञानवर्धक जानकारी भरी पोस्ट को बहुत -२ सम्मान जी /

संजय भास्कर ने कहा…

पिछले कुछ दिनों से अधिक व्यस्त रहा इसलिए आपके ब्लॉग पर आने में देरी के लिए क्षमा चाहता हूँ...

इस अच्छी और उपयोगी जानकारी के लिये बहुत बहुत आभार ......... वीरु जी