शनिवार, 21 नवंबर 2015

भ्रष्ट समागम में मिले , लालू और अरविन्द , महाभ्रष्ट से मिल रहे ,भ्रष्ट विरोधी रिन्द



 भ्रष्ट समागम में मिले , लालू और अरविन्द  ,

महाभ्रष्ट से मिल रहे ,भ्रष्ट विरोधी रिन्द  ।  

जागेगा अब  हिन्द ,भ्रष्ट सब गले मिलेंगे ,

गाएंगे सब भजन ,बोल  जय राधेगोबिंद,

और साथ में जय जय हिन्द। 

महाभ्रष्ट से मिल रहे ,भ्रष्ट विरोधी रिन्द ,

 श्रीभ्रष्ट स्तुति :

हम भ्रष्टन के भ्रष्ट हमारे ,

गिरवीं बहुमत पास हमारे । 

पूज्यदेव  सब भ्रष्ट हमारे ,

 तन मन धन सब इन पर वारे। 

3 टिप्‍पणियां:

kuldeep thakur ने कहा…

जय मां हाटेशवरी....
आप ने लिखा...
कुठ लोगों ने ही पढ़ा...
हमारा प्रयास है कि इसे सभी पढ़े...
इस लिये आप की ये खूबसूरत रचना....
दिनांक 23/11/2015 को रचना के महत्वपूर्ण अंश के साथ....
चर्चा मंच[कुलदीप ठाकुर द्वारा प्रस्तुत चर्चा] पर... लिंक की जा रही है...
इस चर्चा में आप भी सादर आमंत्रित हैं...
टिप्पणियों के माध्यम से आप के सुझावों का स्वागत है....
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ...
कुलदीप ठाकुर...


JEEWANTIPS ने कहा…

सुन्दर व सार्थक रचना प्रस्तुतिकरण के लिए आभार..
मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका इंतजार....

Asha Joglekar ने कहा…

सामयिक और सटीक।