शनिवार, 14 जनवरी 2012

मोटापा और मधुमेह दोनों की खबर लेता है 'एक्सरसाइज़ हारमोन 'PGC1-alpha.

मोटापा और मधुमेह दोनों की खबर लेता है 'एक्सरसाइज़ हारमोन 'PGC1-alpha.
'Exercise 'harmone may help fight obesity ,daibetes./TIMES OF INDIA.MUMBAI ,P19.
Dana -Farber Cancer Institute एवं हारवर्ड मेडिकल स्कूल के रिसर्चरों का यह अध्ययन विज्ञान साप्ताहिक पत्रिका नेचर में छपा है .जिसमे बतलाया गया है की कसरत का असर हमारे शरीर पर कोशाओं के स्तर पर पड़ता है .चूहों के साथ साथ इस एवज मानवीय पेशीय कोशाओं (human muscle cells)का अध्ययन किया गया .समझा जाता है की पेशीय कोशायें शरीर में चलने वाली जैविक क्रियाओं कोपेशियों से हटकर अन्यत्र भी प्रभावित करतीं हैं .
शरीर में जमा चर्बी के साथ भी पेशीय कोशायें संवाद कायम करतीं हैं .यह सम्प्रेषण और विमर्श जैव -रासायनिक तल पर चलता है .लेकिन पेशीय कोशायें बॉडी फेट से कहतीं क्या है क्या बतियातीं हैं और कसरत का नियमित वर्क आउट का व्यायाम का इसे कायम किए रहने में क्या रोल है यह आदिनांक रहस्य मूलक ही बना रहा आया है .
यह पहली मर्तबा है जब साइंसदानों ने एक ख़ास पदार्थ PGC1-alpha के प्रकार्य की पड़ताल की है जो कसरत के दरमियान और बाद कसरत के पेशियों में व्यापक स्तर पर बनता है .यही कुंजी है फेट को उड़ाने की .मधुमेह और मोटापे से बचाव की .
आज का नीतिपरक दोहा -
जो बदें को लघु कहे ,नहीं रहीम घट जाय .,
गिरधर मुरलीधर कहे ,कछु दुःख मानत नाय .
RAM RAM BHAI ! RAM RAM BHAI !
सेहत के नुश्खे :
HEALTH TIPS:
चमड़ी पर चोट के निशाँ और दाग धब्बों से छुटकारा :सुखाये गए संतरे के छिलकों का एक गाढा पेस्ट दही के साथ बनाइए .इसे दाग धब्बों और चोट के निशानों पर नियमित लगाइए .दाग धब्बे धीरे धीरे दब जायेंगें .
A paste of dried orange peels with curd helps reduce the appearance of blemishes and scars.

खून में घुली चर्बी कोलेस्ट्रोल कम करने के लिए :कोलेस्ट्रोल कम करने के लिए रोजाना प्याज का अर्क और कच्ची प्याज का सेवन सलाद के बतौर करें .इससे खून साफ़ भी होता है .पाचन में सुधरता है अनिद्रा रोग में भी राहत मिलती है .

Drinking onion juice or eating raw onion every day helps lower blood cholesterol levels ,cleanses the blood ,improves digestion ,relieves insomnia .
अपच और Bowel Regulator के बतौर लीजिए आयुर्वेद का आजमाया हुआ नुश्खा -SOFTOVAC जिसके हरेक चाय चम्मच लगभग पाच ग्राम में मौजूद है -
ईसपगोल (Plantago ovata husk) की भूसी २ ग्राम ,सोनामुखी (Senna)0.75 ग्राम ,हरड(Terminalia chebule )आधा ग्राम,अमलतास (Cassia fistula)आधा ग्राम ,मुलेठी (Liquorice) 0.25 ग्राम ,
गुलाब दल (Rose petals )चौथाई ग्राम ,सौंफ(Badi saunf)(Fennel Seeds) चौथाई ग्राम ,सौंफ तेल(FENNEL OIL).०५ ग्राम ,शर्करा (SUGAR),qs,
परि -रक्षक के बतौर इसमें मौजूद है -सोडियम बेन्जोएट .
वयस्क इसका एक से दो चम्मच गुनगुने या फिर ताज़े पानी में घोल के रात को सोते वक्त या शाम उस वक्त जब पेट अपेक्षाकृत खाली हो शाम की चाय से पहले ले सकतें हैं .बच्चों के लिए आधे से लेकर एक चम्मच कॉफ़ी है .कोई पार्श्व प्रभाव नहीं हैं इसके .
softovac is a bowel regulator made of ingredient from natural sources which are safe and non -habit forming .
सन्दर्भ -सामिग्री :वृहद् निघंटु रत्नाकर एवं द्रव्य गुण विज्ञानं पार्ट २ .
LUPIN LTD BNAA RAHI HAI यह नुश्खा .

9 टिप्‍पणियां:

Kunwar Kusumesh ने कहा…

वाह.बहुत लाभदायक पोस्ट.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

फिर से प्रारम्भ करते हैं..

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत उपयोगी पोस्ट..आभार

मनीष सिंह निराला ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी !

dheerendra ने कहा…

बहुत सुंदर जानकारी भरा उपयोगी पोस्ट
new post--काव्यान्जलि --हमदर्द-

mahendra verma ने कहा…

उपयागेी और लाभप्रद जानकारी के लिए आभार।

Patali-The-Village ने कहा…

बहुत लाभदायक पोस्ट|आभार।

संजय भास्कर ने कहा…

लाभदायक जानकारी

Amrita Tanmay ने कहा…

आभार लाभदायक पोस्ट के लिए |