सोमवार, 9 जनवरी 2012

वक्त (उम्र )को चुनौती देता एक साइंसदान :

वक्त (उम्र )को चुनौती देता एक साइंसदान : आइये आज आपको मिलवातें हैं एक ऐसे साइंसदान से जिसने न सिर्फ समय की सवारी की है सृष्टि के गुरु गंभीर रहस्यों को भी बूझा है जो खुद अन्तरिक्ष की कालकोठारियों सा अबूझ है लेकिन औरत के प्रति इतना विमोहित रहा है कि उसे ब्लेक होल्स से भी ज्यादा मनोरम और एग्ज़ोतिक मानता है .
आठ जनवरी १९४२ को इंग्लैण्ड में जन्मे इस साइंसदान का नाम है -स्टीवंस हाकिंग जिसने न सिर्फ दुनिया में सबसे ज्यादा बिकने वाली किताबों में से एक किताब 'दी ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ़ टाइम 'प्रस्तुत की ब्लेक होल्स से लेकर स्ट्रिंग थिअरी को तराशा बूझा जो मानता है कि यदि ईश्वर है तो वह भी इसी सृष्टि का अंग है कार्य कारण सम्बन्ध से आबद्ध है मुक्त नहीं है .यही है वह साइंसदान जिसने समय के साथ जंग में समय को शह दी है .परास्त किया है . ब्रितानी साइंसदान स्टीवंस हाकिंग कल (इतवार जनवरी ८ ,२०१२ )७० बरस के हो गए .उम्र के आठवें दशक में प्रवेश कर गए .इन्हें अपने जन्म दिन पर एक विशिष्ठ संगोष्ठी में भाग लेना था लेकिन ये अस्पताल से शुक्रवार (६ जनवरी २०१२ )को ही डिसचाज़ हुए थे .यानी जन्म दिन से दो रोज़ पहले ही इन्हें अस्पताल से छुट्टी मिली थी .इस विशेष गोष्ठी का विषय था 'हमारी सृष्टि की नियति और अवस्था 'स्टेट ऑफ़ दी यूनिवर्स 'जिसकी बेशक उसी दिन शुरुआत हुई लेकिन अब दुनिया का ये फिलवक्त सबसे विख्यात साइंसदान इसमें वेबकास्ट के ज़रिये ही शिरकतकर पायेगा .
केम्ब्रिज विश्वविद्यालय के प्रांगण में यह संगोष्ठी आयोजित कि गई है .
हाकिंग उस वक्त बा -मुश्किल २१ बरस के नवयुवक ही थे जब माहिरों ने रोग निदान के बाद इन्हें 'Motor neurone disease 'से ग्रस्त बतलाया था .मोहलत में इन्हें मिले थे चंद बरस .आज यह विशिष्ट जीवट वाला व्यक्ति उम्र के आठवें दशक में प्रवेश कर चुका है .
४० बरसों से यह व्यक्ति वील चेयर पर ही अपनी चर्या चला रहा है .बोलने के लिए यह केवल cheeks की twitching का ही स्तेमाल करता है जिसे एक वोइस सिन्थेसाइज़र स्पीच में बदल देता है .खुद इन्हें अपनी आवाज़ सुनने में बस एक ही दिक्कत पेश आती है ध्वनी संशाधक अमरीकी उच्चारण ही प्रस्तुत करता है .एक कंप्यूटर की मदद भी ली जाती है .बहुत कम बेहद सीमित मानवीय संशाधन से युक्त यह व्यक्ति अपार अनन्त सृष्टि के रहस्यों को बूझ रहा है .यूनिवर्स से कनेक्ट कर रहा है .यह सब कैसे हो रहा है चिकित्सा माहिरों के लिए यह भी किसी करिश्मे से कम नहीं है क्योंकि मोटर न्यूरोन डिजीज से ग्रस्त व्यक्ति को इतनी उमरिया लेते कम ही सुना गया है .
हाकिंग के अपने शब्दों में -''I AM SURE MY DISABILITY HAS A BEARING ON WHY I'M WELL KNOWN ,"HE ONCE SAID ."PEOPLE ARE FASCINATED BY THE CONTRAST BETWEEN MY VERY LIMITED PHYSICAL POWERS ,AND THE VAST NATURE OF THE UNIVERSE I DEAL WITH.."
दरअसल हाकिंग की बीमारी का एक अभौतिक पक्ष भी है .व्यक्ति का एक भौतिक शरीर होता है एक अभौतिक .भौतिक शरीर ही व्याधि ग्रस्त होता है अलबत्ता जब बीमारी भौतिक शरीर का अतिक्रमण कर मन के उस हिस्से तक पहुँच जाती है जो अभुतिक शरीर से ताल्लुक रखता है तब व्यक्ति पूर्ण रूपेण व्याधि ग्रस्त हो जाता है .
हाकिंग वह व्यक्ति हैं जिन्होनें बीमारी को मन के उस हिस्से तक पहुँचने ही नहीं दिया है .मन का स्वभाव है गति और धर्म .काया या शरीर जड़ है जड़त्व लिए है .मन की चल है .ऊर्ध्व गामी बनाए रखा है हाकिंग ने मन को .अधोगति की और जाने न दिया है .
January 10,2012


ram ram bhai ! ram ram bhai !
सेहत के नुश्खे :
HEALTH TIPS:
गंजपन से राहत के लिए सोय :सोइया या सोयाबीन से बने खाद्य और पेय पाचन के बाद एक ऐसे हारमोन को बाधित कर देतें हैं जो प्रोस्टेट ग्रंथि को ईंधन मुहैया करवाता है और आखिरकार गंजपन को हवा देता है .
When Soy is digested ,it stops a harmone that fuels the prostate growth which causes baldness .
एव- काडो और अंडे से तैयार मिश्र बालों के लिए एक बेहतरीन कंडिशनर का काम करता है .बालों के रख -रखाव के लिए बहुत अच्छा सिद्ध होता है यह मिश्र .
A Simple mixture of avocado and egg can be a great conditioner for the hair.Avocado is a pear shaped green fleshed edible fruit with a leathery dark green or blakish skin ,soft smooth tasting pale green flesh and a large stony seed ,eaten raw in salads and dips .It is a TROPICAL FRUIT that is wider at one end than the other .

7 टिप्‍पणियां:

रविकर ने कहा…

खूबसूरत प्रस्तुति ||

dheerendra ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति बहुत बढ़िया आलेख ,....
welcom to new post --"काव्यान्जलि"--

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

समय के बारे में उनकी किताब ने बड़ा प्रभावित किया है।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

स्टीफेन हॉकिंग एक चमत्कार ही है । एक अजूबा है । हैरानी होती है इनकी जीवनी को देखकर ।

मनोज कुमार ने कहा…

अच्छी प्रस्तुति।

SM ने कहा…

When Soy is digested ,it stops a harmone that fuels the prostate growth which causes baldness .
imp tip

Anita ने कहा…

स्टीवंस हाकिंग के बारे में बहुमूल्य जानकारी देती पोस्ट के लिये आभार!