बुधवार, 26 अक्तूबर 2011

बचना चाहिए भावी माताओं को संशाधित पैकेज्ड फ़ूड से ,डिब्बा बंद खाद्य से .

बचना चाहिए भावी माताओं को संशाधित पैकेज्ड फ़ूड से ,डिब्बा बंद खाद्य से .
हारवर्ड विश्वविद्यालय के रिसर्चरों ने पता लगाया है गर्भस्थ कन्या भ्रूण के मामलों में पैकेज्ड फ़ूड में रिसकर पहुंचा एक रसायन बिस्फिनोल ए व्यवहार सम्बन्धी दिक्कतें उनके तीन साला होते होते खड़ी कर देता है .बिस्फिनोल ए प्लास्टिक उत्पादों का एक आम घटक है .यह प्लास्टिक को कठोर बनाने के लिए काम में लिया जाता है .जिन डिब्बों और बोतलों का स्तेमाल खाद्य सामिग्री के भंडारण में किया जाता है उनका अंदरूनी स्तर इनर लाइनिंग ,चाक़ू और फोर्क्स के सिरों पर यह सत्यानाशी रसायन बिस्फिनोल ए मिला है जो लड़कियों में जेंडर बेनदर (लड़कियों का लड़कों की तरह व्यवहार ,लड़कों से कपडे पहन सजना धजना ,जेंडर भेद को धुंधला कर देता है .हारमोन केमिस्ट्री ,हारमोनों के सशाधन को प्रोसेसिंग को असर ग्रस्त करता है यह रसायन नतीज़न तीन साला होते होते लडकियां (कन्याएं )हाइपरएक्टिव तथा आक्रामक हो जातीं हैं .अध्ययन से यह भी पता चला है लडकों के मामले में ऐसा कुछ भी नहीं होता है .
अपनी रिसर्च के तहत यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ के साइंसदानों ने २४४ गर्भवती महिलाओं के शरीर में इस रसायन बिस्फिनोल ए के स्तरों का मिलान किया ,तुलना की रसायन के मौजूद स्तर की हरेक में .तीन नमूने इस एवज गर्भकाल में तथा एक प्रसव के वक्त लिया गया .इसकी जांच बिस्फिनोल के स्तर के लिए की गई .जब शिशु एक बरस के हो गए इनके शरीर में भी इसके स्तर की जांच की गई .अगले दो बरसों में भी ऐसी ही जांच की गई .इनके तीन साला होते ही इनकी माताओं से एक प्रश्नावली भरवाई गई .इस सर्वे में इन नौनिहालों के व्यवहार का ब्योरा जुटाया गया था .
पता चला लड़कियों के हाइपरएक्टिव ,अवसाद ग्रस्त ,आक्रामक ,बे -चैनी से ग्रस्त त्तथा अपने व्यवहार पर नियंतार्ण न होने की संभावना उन मामलों में ज्यादा थी जिनकी माताओं में गर्भकाल में बिस्फिनोल ए का स्तर अधिक मिला था .लेकिन लड़कों के मामले में ऐसे किसी अंतर सम्बन्ध की पुष्टि नहीं हुई थी .

4 टिप्‍पणियां:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

प्राकृतिक प्रक्रियाओं के लिये प्राकृतिक आहार।

Navin C. Chaturvedi ने कहा…

ये डिब्बा बंद खाद्य सिर्फ नुक्सान ही पहुंचाते हैं, पर हम सभी खाते भी तो हैं
आपने सही आलेख प्रस्तुत किया है
दिवाली, भाई दूज और नव वर्ष की शुभकामनायें

SM ने कहा…

home made fresh food is best

दिगम्बर नासवा ने कहा…

लाजवाब जानकारी ... डिब्बा बंद चीज़ों का प्रग्योग कम से कम होना चाहिए ... जागरूक करती हुयी पोस्ट ...