सोमवार, 13 मई 2013

A pacemaker that can SMS the doctor if you miss a beat

गतिचालक यंत्र (Pacemaker )एक ऐसा यंत्र या युक्ति है जो दिल की धडकनों को नियमित रखती है या फिर अधिक बलशाली रीति से धड़ कने देती है .दिल की लय बिगड़ने पर अब यह युक्ति आपके डॉ को एक एसएमएस भेज सकती है .ठीक सेल फोन की तरह ही काम करती है यह युक्ति भी .अलबत्ता आपका माहिर डॉ इसमें कुछ आपातकालीन परिस्थितियाँ सेट कर देता है जैसे आप एलार्म सेट करते हैं .

दिल की धड़कन सामान्य  से तेज़ या कमतर रह जाने पर या फिर इस यंत्र की बेटरी चुकने से पहले ही गतिनियंत्रक यंत्र आपातकाल की परिश्तिथियों को ताड़ लेता है .

बिना किसी विलम्ब के यह एक सन्देश मॉडेम को भेज देता है जो मरीज़ खुद अपने पासरखे रहता है .तथा  अवरक्त किरणों की मदद से इससे सन्देश भेजा जाता   है .

अब डॉ को ई मेल भेजना मॉडेम के जिम्मे आता है .बशर्ते मामला गंभीर हो ,ऐसी मांग करता हो .बड़े खतरे के वक्त साथ साथ एक एसएमएस अलर्ट भी भेज दी जाती है .

ई -मेल मरीज़ की हार्ट रेट का कच्चा चिठ्ठा होता है .असामान्य  धड़कन का रिकार्ड होता है .डॉ परिश्थिति के अनरूप तुरंत या तो मरीज़ को दवा लेने की सलाह देता है या फिर अस्पताल पहुँचने की हिदायत .

अक्सर लोग हार्ट अटेक के लक्षण समझ बूझ नहीं पाते हैं .पता ही नहीं चल पाता है कि दौरा पड़ रहा है .

गोपाल मोतीलाल अग्रवाल हिदुस्तान के ऐसे पहले पेसमेकर धारक बन गए हैं जो उनके डॉ को उनके बारे में बा -खबर रखता है किसी भी आकस्मिकता से निपटने के लिए .

अग्रवाल दुनियाभर में कहीं भी घूम सकते हैं और तब भी अपने डॉ से इस युक्ति की मार्फ़त संपर्क बनाए रह 

सकते हैं .

यह एक कार्डिएक री -सिंक्रोनाईजेशन  युक्ति (Cardiac resynchronization device) है .जो हार्ट फेलियोर के मामले में शॉक  देकर दिल को दोबारा उसकी लय -ताल, सामान्य धड़कन मुहैया करवाती है .

हार्ट बीट के विषम होने पर माहिर को खबरदार कर देती है .यही कहना है डॉ वी टी शाह का .आप ब्रीच केंडी अस्पताल में दिल के मामलों के सलाहकार हैं  .

इस युक्ति का नाम है 'केयर लिंक 'अग्रवाल इसे एक मई से दिल में फिट करवाए मजे से घूम रहें हैं .अलबत्ता इसकी कीमत साढ़े चौदह लाख है जबकि एक सामान्य पेसमेकर इसके बरक्स मात्र डेढ़ लाख का आ जाता है .इसे निर्माता कम्पनी Medtronic ने सेल फोन की तर्ज़ पर ही तैयार किया है .अलबत्ता अवरक्त किरणों (infra-red -radiations )की मदद से यह मॉडेम को सिग्नल भेजता है जिसे मरीज़ को अपने संग लिए रहना पड़ता है .

इस मॉडेम में एक इंटरनेशनल रोमिग सिम कार्ड डाला गया है .यह इस प्रणाली से पहले ही फीड किये नम्बर पर अलर्ट भेजता है वक्त ज़रुरत के अनुरूप .

Conditions such as a ventricular tachycardia-a condition in which scar tissues form in the muscle of the ventricles ;ventricular fibrillation -a heart rhythm problem that occurs when the heart beats with rapid ,erratic electrical impulses , or when the battery of the pacemaker is about to die are marked as high alert conditions.

"The pacemaker and the modem can be programmed according to the patient's needs ,"says Dr Shah .

10 टिप्‍पणियां:

दिगम्बर नासवा ने कहा…

विज्ञानं जितना सहज कर रहा है जीवन को .. उसका उपयोग यदि आम आदमी को उचित दामों में सुलभ हो जाए तो सोने पे सुहाना है ...

Rajendra Kumar ने कहा…

बेहतरीन रोचक जानकारी को शेयर किये,आभार.

Vikesh Badola ने कहा…

बहुत बढ़िया।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वाह, समय के साथ बढ़ती तकनीक..

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

मेडिकल साईंस कहां से कहां पहूंच गया, तकनीक निश्चय ही उपयोगी है पर महंगी होने की वजह से आम लोगों की पहुंच से बाहर ही रहेगी फ़िलहाल तो. समय आने पर अवश्य सस्ती हो पायेगी, बहुत आभार.

रामराम.

Aziz Jaunpuri ने कहा…

सर जी ,गतिनियन्त्रक के खूबिओं से जुडी सुन्दर एवम उपयोगी जाकारी से परिचित करने के लिए सदर आभार

Anita (अनिता) ने कहा…

बहुत अच्छी तथा उपयोगी जानकारी सर!
मगर बहुत कम लोग ऐसी जानकारियों तक पहुँच पाते हैं और इसे इस्तेमाल करने का लाभ उठाने में सक्षम हो पाते हैं...!
~सादर!!!

Anita (अनिता) ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

har bar ak nai jankari pati hoon ...iske liye dhanyavad aur mere blog par aane ke liye aabhar ....

Aziz Jaunpuri ने कहा…

बेहतरीन सर जी