बुधवार, 28 मार्च 2012

छरहरे रहतें हैं अकसर चोकलेट प्रेमी .

छरहरे रहतें हैं अकसर चोकलेट प्रेमी .
Dark secret :Gorge on chocolates to stay slim/TIMES TRENDS/THE TIMES OF INDIA,MUMBAI ,MARCH 28 ,2012
साइंसदानों  ने पता लगाया है वे लोग जो हफ्ते में कई मर्तबा चोकलेट खाते रहतें हैं छरहरे बने रहतें हैं बरक्स उनके जो कभी कभार ही चोकलेट खातें हैं .साइंसदानों का अब यह भी कहना है सवाल केवल केलोरी की मात्रात्मक -ता का ही नहीं है उसकी कम्पोजिसन बनावट का भी है .
अध्ययन में १००० लोगों की खुराक पर नजर रखी गई .उनके द्वारा खपत में ली गई दिन भर में कुल केलोरीज़ ,बॉडी मॉस इंडेक्स का भी जायजा लिया गया जिसे मोटापे का निर्धारक तत्व माना जाता है .
बेशक चोकलेट केलोरीज़ का ज्यादा भार लिए है लदी है केलोरियों से लेकिन इसमें मौजूद रहतें हैं कुछ ऐसे तत्व कुछ ऐसे घटक जो वजन घटाने के पक्ष में जातें हैं .,फैट संश्लेषण से इन घटकों का कुछ लेना देना नहीं रहता है .जैसा की अब तक माना समझा जाता रहा है .
यह अंतर सम्बन्ध तब भी देखा गया जब अन्य  चीज़ों पर भी गौर किया गया मसलन कौन कितना व्यायाम करता है सक्रीय रहता है दिनचर्या में .
यह भी पता चला एहम बात यह नहीं है आप कित्ती चोकलेट खातें हैं एहम बात यह है हफ्ते में कितनी मर्तबा खातें हैं .अध्ययन में खाई हुई चोकलेट की कुल मात्रा का कोई अंतर सम्बन्ध नहीं देखा गया .
असल बात वजन के निर्धारण में केलोरियों की संख्या नहीं है केलोरियों की कम्पोजीशन ही है .
केलिफोर्निया विश्विद्यालय संदियेगो कैम्पस के साइंसदानों ने इस अध्ययन को संपन्न किया है .
बकौल रिसर्चरों के एंटीओक्सिडेंट यौगिक Catechins ,लीन मसल मॉस को पुख्ता करतें हैं बढातें हैं .वजन को घटाने में विधाई भूमिका भी निभा सकतें हैं .
चूहों पर संपन्न अध्ययन में यह पुष्ट भी हुआ है .जिन चूहों को लगातार १५ दिन तक डार्क चोकलेट में पाए जाने वाला epicatechin दिया गया उनके कसरत प्रदर्शन में भी सुधार हुआ मसल की बुनावट भी पुख्ता हुई .सुधरी .
मनुष्यों पर आजमाइशें  होना बाकी है .  

10 टिप्‍पणियां:

डॉ टी एस दराल ने कहा…

हमने तो आज तक चॉकलेट की पूरी बार कभी नहीं खाई .
जब भी मिली , टुकड़ों में ही मिली . :)

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

छरहरे रहतें हैं अकसर चोकलेट प्रेमी .....यह रिसर्च बिलकुल सही है....बहुत बढ़िया जानकारी

G.N.SHAW ने कहा…

भाई साहब - मेरा वजन भी ज्यादा हो गया है , लगता है चोकलेट खाने पड़ेंगे !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

वाह!
यह तो बहुत कारगर उपाय बताया है आपने!

SM ने कहा…

importance of composition
informative post

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

हो सकता है, प्रायोजित विज्ञापन हो।

dheerendra ने कहा…

वाह !!!!! वजन घटाने का उम्दा उपाय,...

MY RECENT POST...काव्यान्जलि ...: तुम्हारा चेहरा,

veerubhai ने कहा…

यह तो रिसर्च रिपोर्ट का पुनर चक्रण है लेकिन निर्देशित रिसर्च होती है साइंसदान भारी राशि पातें हैं इस एवज सत्य का बीज यहाँ भी है . इससे पूरी तरह असहमत होना मुश्किल है .प्रवीण भाई .

दिगम्बर नासवा ने कहा…

तो क्या अब चोकलेट खाना शुरू करना पढ़ेगा ... कहीं ये रिसर्च चोलेट कंपनियों द्वारा स्पोंसर तो नहीं की गही है ...
राम राम भई ...

babanpandey ने कहा…

eating chocolate is a expensive habit.. but why fat body man goes to gym instead of eating this./