शनिवार, 2 जुलाई 2011

पोटेटो चिप्स एंड इडीयट बोक्स ...... .

मिडिल एज में प्रोस्पेरिटी पौंच (बेली फैट )बढाने का आसान उपाय है पोटेटो -चिप्स लेकर बुद्ध बक्से से चिपक जाइए .कुछ ही दिनों में आप खाएपीये अघाए घर के दिखेंगें .१,२०,००० वयस्कों पर संपन्न एक अध्ययन ने यह नतीजे निकालें हैं .अध्ययन के शुरुआत में ३३ -६० साला नोर्मल वेट वाले औरतों और मर्दों का वजन अपनी कद काठी के अनुरूप यानि नोर्मल था लेकिन इसमें हर चार साल के बाद ३.४ पोंड की वृद्धि होती चली गई .अमूमन एज के हिसाब से हर साल एक पोंड वजन बढ़ने पर भी आदमी एम्बरेस ही महसूस करता है ।
पोटेटो चिप्स की रोजाना एक सर्विंग लेने वालोंका वजन जहां हर साल १.७ पोंड बढा वहीँ फ्रेंच फ्राईज़ रोज़ टूंगने वालों का ३.४ पोंड हर साल बढा ।
अलावा इसके जिन लोगों ने रोजाना एक सर्विंग सोडा की ,संशाधित मीट और रेड मीट की भी ली उनका वजन इसके अलावा भी एक पोंड और बढा हर साल ।
ज़ाहिरहै अन -हेल्दी फूड्स जग ज़ाहिर हो जातें हैं बा -रास्ता आपकी बेली फैट ,प्रोस्पेरिटी पौंच ।
हेल्दी फ़ूड का बोनस :जिन लोगों ने रोजाना एक सर्विंग योगर्ट (प्लेन दही )की ली उनका वजन अपेक्षित से ०.८ पोंड कम बढा तथा एक सर्विंग फल और मेवे लेने वालों का लगभग आधा पोंड कम बढ़ा हुआ दर्ज़ हुआ .
मसला यहाँ यह नहीं है की कम खाया जाए मसला यह है आप खाते क्या हैं ?चस्का हेल्दी का है या अन -हेल्दी का ।
अकसर कहा जाता है मोडरेशन में कुछ भी खाओ सब अच्छा रहेगा ,खाना पीना अच्छा और बुरा नहीं होता ।
प्रस्तुत रिसर्च इसी कन्वेंशनल विजडम के पर कतरती है ।
न्यू इंग्लेंड जर्नल ऑफ़ मेडिसन में प्रकाशित इस अधययन में २० साल के दरमियान चले तीन सरकारी अनुदान से संपन्न अध्ययनों का सार है जो डॉ .,नर्सतथा अन्य स्वास्थ्य कर्मियों पर संपन्न हुए थे ।
जीवन शैली अंदाज़ ने अपनी लीला कुछ यूं दिखलाई :
टी वी के आगे बैठे बिठाये बिताये हरेक एक्स्ट्रा घंटे के लिए एक तिहाई पोंड हरेक प्रति भागी काऔर भी बढा .
हर रात ६ घंटे से कमतर तथा ८ घंटों से ज्यादा सोने वालों का भी वजन बढा उसी हिसाब से और बढा .।
जो अपने कसरती रूटीन पर बने रहे उनका वजन १.६ पोंड कमतर बढ़ा हुआही दर्ज़ किया गया ।
संदर्भ -सामिग्री :-http://news.health.com/2011/06/22/weight-gain-potato-chips/

10 टिप्‍पणियां:

Arvind Mishra ने कहा…

पहले काउच पोटैटो और अब माउस पोटैटो ....बस बैठे रहिये उजबक की तरह !

जाट देवता (संदीप पवाँर) ने कहा…

मैं बहुत डरता हूँ वजन बढने की सम्भावना से

veerubhai ने कहा…

जाट देवता आप कभी मोटे नहीं हो सकते .मोटे होने के लिए पैदल चलना बंद करना होगा ."माउस पोटेटो"बनना पडेगा हमारी तरह .बे -हिसाब दारु पीनी पड़ेगी .खुदा आपको और आपकी यात्रा को सलामत रखे .मोटे हों आपके दुश्मन .

अल्पना वर्मा ने कहा…

अच्छी जानकारी मिली.
---
फ्रेंच फ्राईज तो हर बच्चे क्या बड़ों को भी प्रिय है.
पैकेट वाले आलू के चिप्स तो फैशन की तरह चलन में बढे हैं.शायद विज्ञापनों का असर है.

रविकर ने कहा…

अच्छी जानकारी ||

यादें ने कहा…

वीरुभाई,राम-राम !
अच्छी जानकारी बाँट रहें हैं आप!
फायदा उठाने वाले सजग हों...

रेखा ने कहा…

चिंता का विषय . इडियट बॉक्स और चिप्स में सब को आनंद आता है और इसी आनंद के साथ साथ हम अपने स्वास्थ्य से खिलवाड़ करते रहते है .

RAJEEV KULSHRESTHA ने कहा…

nice blog veeru ji
thanx

sm ने कहा…

yes mouse potato
yes walking is important to stay slim

Rachana ने कहा…

bachon ki to bat hi nahi hai ye sab to bade bhi bahut shouk se khate hain.hum jante huye bhi sochte nahi shayad aapka lekh padh kuchh sochen
dhnyavad
saader
rachana