मंगलवार, 23 जून 2015

स्वामी असत्यानन्द केजरीवाल की बेशर्मी भरी भाषा

स्वामी असत्यानन्द केजरीवाल की बेशर्मी भरी भाषा

दिल्ली विधानसभा के  सत्र का पहला दिन केजरीवाल की वक्र भाषा के साथ शुरू हुआ और बिना कोई काम निपटाये समाप्त हो गया। केजरीवाल अपनी बेशर्मी भरी वक्र भाषा बोलते रहे । बानगी देखिये -अगर जो कुछ चैनलिये कह रहे हैं वह वाकई सच है तो भी मैंने नैतिकता के आधार पर जीतेन्द्र तोमर (क़ानून मंत्री आप सरकार के जिन्हें १५ दिन की पुलिस रिमांड पे ले लिया गया है )का इस्तीफा ले लिया है। अगर जो कुछ अखबार लिख रहें हैं वह सच है तो भी मैंने नैतिकता के आधार पर …। यही स्वामी असत्यानन्द जी कल तक यही कह रहे थे -मैंने तोमर की सभी डिग्रीयां देख लीं हैं ,सब असली हैं अब देखने को कुछ बाकी नहीं है। अब अपनी वक्र जुबान में कहे जा रहें हैं अगर डिग्रीयां वास्तव में नकली हैं तो भी मैंने तो नैतिकता के आधार पर …।

साथ ही बेशर्मी भरी भाषा बोलते हुए प्रधानमन्त्री को अपनी केजरीवालीय नैतिकता की दुहाई देते हुए ये सीख भी दे दी है -प्रधानमंत्री जी ललित मोदी के मुद्दे पे आपके  कई मंत्री भी आपसे झूठ बोल रहें हैं.नैतिकता के आधार पर मेरी तरह आप भी उनका इस्तीफा लेकर रख लो।

विधानसभा में 'आप 'पार्टी के कुल ६७ सदस्य हैं ,तीन भाजपा के और कांग्रेस को एक भी सदस्य नहीं हैं। जब भाजपा के ओम प्रकाश शर्मा बोलने के खड़े हुए तो 'आप 'नियुक्त विधानसभा अध्यक्ष  ने उन्हें डाट कर बिठा दिया। जब वह अपनी बात कहने के लिए फिर खड़े हुए उन्हें मार्शलों से धक्के देकर बाहर निकलवा दिया।जैसे वह विधानसभा सदस्य न होकर एमएलए न होकर कोई बाहरी व्यक्ति हों और सदन में घुस आये हों।  इस प्रकार सदन के पहले दिन ही 'आप 'के विशाल बहुमत के बीच भी कोई काम नहीं हो सका। 'आप ' का तानाशाही रवैया और केजरी की वक्र भाषा ही मुखरित होती रही।अखबारों में केजरी के इसी तानाशाही रवैये की चर्चा है। 

सुषमा पर मेरे जैसा ऐक्शन लेकर दिखाएं मोदीः केजरीवाल



केजरीवाल ने मंगलवार को दिल्ली विधानसभा में कहा कि उन्होंने जिस तरह फर्जी डिग्री मामले में अपने कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर पर कार्रवाई की, मोदी भी ऐसा करके दिखाएं।

केजरीवाल ने कहा, 'मैं पीएम से कहना चाहता हूं। जिस तरह मुझसे झूठ बोला गया, मुझे लगता है कि उनके कुछ मंत्री भी ऐसा ही कर रहे हैं। उन्हें वही करना चाहिए जो मैंने किया।' केजरीवाल की इस टिप्पणी पर बीजेपी के तीन विधायकों ने जमकर हंगामा किया और सभी 70 विधायकों की डिग्रियां चेक करने की मांग कर डाली। हंगामा कर रहे बीजेपी विधायक ओपी शर्मा को मार्शल बाहर ले गए।
केजरीवाल ने आगे कहा, 'मैंने तोमर के खिलाफ कार्रवाई की, इसलिए मेरी मोदी जी से गुजारिश है कि वह सुषमा स्वराज और वसुंधरा राजे के खिलाफ कार्रवाई करें।' केजरीवाल ने माना कि तोमर ने फर्जी डिग्री मामले में उनसे झूठ बोला था। उन्होंने कहा, 'अगर मीडिया में दिखाई जा रही बातें सही हैं, इसका मतलब है कि मुझसे भी झूठ बोला गया।'
गौरतलब है कि फर्जी डिग्री केस में तोमर की गिरफ्तारी का शुरुआत में आम आदमी पार्टी और केजरीवाल सरकार ने जमकर विरोध किया था। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे केंद्र सरकार के इशारे पर उठाया गया कदम करार दिया था। लेकिन जैसे-जैसे पुलिस की जांच आगे बढ़ी और तोमर इस मामले में फंसते दिखे, पार्टी और सरकार ने उनसे किनारा कर लिया।


बीजेपी के विधायक ओपी शर्मा ने विधानसभा भवन के बाहर अपनी मांग को सही ठहराते हुए कहा, 'अगर मैंने केजरीवाल को यह सुझाव दिया कि सभी 70 विधायकों की डिग्रियां चेक की जानी चाहिए, तो इसमें गलत क्या है।'


http://publication.samachar.com/topstorytopmast.php?sify_url=http://navbharattimes.indiatimes.com/metro/delhi/politics/Kejriwal-to-Modi-Act-on-Sushma-Raje-the-way-I-did-with-Tomar/articleshow/47785635.cms


2 टिप्‍पणियां:

विकेश कुमार बडोला ने कहा…

सच में दिल्‍ली की सत्‍ता में राजनीति कम और घरेलू नीति ज्‍यादा नजर आ रही है।

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

राजनीति का स्तर इतना गिर चुका है कि कुछ भी पढ़ने का मन नहीं करता।