शुक्रवार, 19 जुलाई 2013

आध्यात्मिक शब्दों की अर्थ युक्त सूची (आध्यात्मिक शब्दावली )

आध्यात्मिक शब्दों की अर्थ युक्त सूची (आध्यात्मिक 

शब्दावली )

(१)आत्मा :वैयक्तिक विशेष की आत्मा जो परमात्मा से 

अलग होती है ..

atma:soul .The individual soul as distinguishable from the Supreme soul,parmatma.

(२)अव्यक्त :प्रगटित नहीं है ,आभासी है लेकिन वास्तविक जैसा है .जो दिव्य प्रकाश के रूप में ऊर्जा का क्वांटम है सूक्ष्मतम परिष्कृत रूप में प्रगटित है .देवदूत तुल्य फ़रिश्ता समान है .

avyakt :not manifest or apparant .Very subtle energy that manifests in the form of pure ,refined ,spiritual light .Avyakt form can be referred to as angelic form.

(३ )आनंदमय :इन्द्रियों से परे आत्मा और परमात्मा के बीच परमआनंद की लेनदेन .परमानंद गूंगे का गुड है जो आत्मा को परमात्मा के संगसाथ में मिलता है अनुभूत होता है .

bliss :the exchange of pure joy -beyond the range of senses -between the Supreme soul and the soul .Supreme bliss is an experience that souls have in the exclusive company of the Father in a state of complete belonging.

(४)ब्रह्म :आत्माओं का स्तम्भ है  ब्रह्म तत्व जहां स्वर्णिम  रक्ताभ प्रकाश ही प्रकाश है .सूरज चाँद सितारों से परे ,प्रेक्षनीय सृष्टि की सीमा से भी परे ,यह दिव्यप्रकाश का छटा तत्व है .यही आत्मलोक है .ब्रह्मलोक है मुक्ति धाम है ,शांति धाम है आवाज़ की दुनिया से परे निर्वाण धाम है .परलोक है ,परम धाम है .मूल वतन है सभी आत्माओं का .

brahm :The element of brahm is a region of golden -red divine light that fills the soul world .It is a place beyond the physical dimensions  
of the sun ,moon ,and stars and is referred to as nirvana , or the sixth element of light.

(५)अशरीर अवस्था :अपने को इस देह से न्यारी ज्योतिबिंदु  स्वरूप आत्मा बूझना ,जानकारी रखना देह से न्यारी देह में एक आत्मा भी है इस जागरूकता में रहना .मैं सिर्फ देह नहीं हूँ जीते जी इस भान में रहना .

bodiless stage: to be in the awareness of the point of light ,the soul ,and to experience being seprate from the body while the soul is still in the body .

(ज़ारी )


8 टिप्‍पणियां:

Anita (अनिता) ने कहा…

बहुत बढ़िया पोस्ट! ये ग्यान अगर सचमुच हो जाए, हम इसको महसूस कर सकें... तो उससे बड़ी कोई नेमत नहीं...
बहुत सुंदर!

~सादर!!!

Anupama Tripathi ने कहा…

powerful enlightening words ...!!
thanks .

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

वाह, इन शब्दों का अर्थ अंग्रेजी में ढूढ़ने से इनका अर्थ ही खो जाता है।

रविकर ने कहा…

गजब-
क्या बात है आदरणीय-
सटीक अभिव्यक्ति-
आभार

सतीश सक्सेना ने कहा…

कमाल का कम कर रहे हो वीरू भाई !!
शुभकामनायें !!

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

अर्थ बताकर आपने इसको सारगर्भित बना दिया, आभार.

रामराम.

Anita ने कहा…

सार्थक पोस्ट !

Arun Sharma ने कहा…

आपकी यह रचना आज शुक्रवार (19-07-2013) को निर्झर टाइम्स पर लिंक की गई है कृपया पधारें.