बुधवार, 29 फ़रवरी 2012

प्रेम का बैरोमीटर है यह हारमोन .

प्रेम  का  बैरोमीटर  है  यह  हारमोन  .
A HORMONE THAT MEASURES LOVE LIFE /THE TIMES OF INDIA ,MUMBAI ,FEB 27,2012,P15.
क्या आपको किसी से प्रेम हो गया है ?आपका काँटा कहीं फिट हो गया है ?और आप जानना चाहते हैं इसका हश्र क्या होने वाला है कितना आगे बढेगा ,चलेगा या नहीं चलेगा टूटेगा यह प्रेम सम्बन्ध तब आप अपने खून में 'ऑक्सीटोसिन  होरमोन 'की जांच करवाइए .पता लगवाइये कितना है इसका स्तर .यही है प्रेम का बैरोमीटर जिसे साइंसदान लव होरमोन कह समझ रहें हैं .
(औरतों में यह कुदरती तौर पर गर्भाधारण की अवधि तथा बाद प्रसव स्तन पान के दरमियान खूब बनता है तथा माँ शिशु के बीच नैसर्गिक जुड़ाव प्रगाढ़ता की वजह बनता है .).
इजराइल की Barilan University के रिसर्चरों ने पता लगाया है जिन दम्पति ,प्रेमी प्रेमिका के खून में इस होरमोन का स्तर अपेक्षाकृत उच्चतर बना रहता है उनका प्रेम खूब परवान चढ़ता है ,प्रेम पगे रहतें हैं ये जोड़े प्रेमी प्रेमिका के .'वीरजारा' के ,बनिस्पत उनके जिनमें  इसका निम्तर स्तर मिलता है .
प्रेम का अंकुरण जिनके दिलों में अभी हाल फिलाल  ही हुआ था रिसर्चरों ने उनमें   इस प्रेम होरमोन का स्तर मापा .छ :माह बाद फिर इनके खून में इस हारमोन का स्तर नापा गया .जिनमें  अभी भी जुड़ाव और प्रगाढ़ता थी उनमें  इसका स्तर अभी भी उच्चतर बना हुआ था कमतर स्तर वाले छिटक कर दूर चले गए थे एक दूसरे से .
'Live Science 'में यह अध्ययन प्रकाशित हुआ है .
प्रेम संबंधों के शुरूआती चरण में इसका स्तर विधाई भूमिका निभाता है .आकर्षण की प्रबलता और टिकाउपन का पैमाना बनता है .
विज्ञान पत्रिका 'Psychoneuroendocrinology 'में  भी इस अध्ययन का खुलासा किया गया है .यहाँ ऑक्सीटोसिन  की भूमिका को रेखांकित किया गया है .जैविक स्तर पर यह उसी तरह का प्रबल आकर्षण है जैसा नवजात के प्रति उपजता है .
पूर्व के अध्ययन में 'ऑक्सीटोसिन के एक नेज़ल स्प्रे 'को जोड़ों  के बीच पनपते प्रेम   समबन्धों में सुधार लाने वाला बतलाया गया था .  
 प्रेम  का  बैरोमीटर  है  यह  हारमोन  .
राम राम भाई !  राम राम भाई !
तलाक के भी होतें हैं खानदानी जीन ,होती है खानदानी विरासत .
DIVORCE COULD BE IN WOMEN'S GENES/THE TIMES OF INDIA,MUMBAI ,FEB27.2012,P15.
ज़रूरी नहीं है तलाक के मामलों में सौ फीसद आदमी को ही दोषी और नाकारा ठहराया जाए औरतों में भी हो सकतें हैं तलाक के जीवन खंड ,जीवन इकाइयां ,जींस (ज्ञान तंतु जिनसे तय होती है खानदानी विरासत ).
आपका वैवाहिक जीवन कैसा और कितनी देर चलेगा इसमें मोतरमा आपके जींस भी विधाई भूमिका निभा सकतें हैं . यही इशारा करता है एक अभिनव अध्ययन .
Karolinska Institute ,Sweden के रिसर्चरों ने पहली मर्तबा 'Female "divorce gene"पता लगाने का दावा किया है .इसके आधार पर प्रागुक्ति की जा सकेगी आपकी वैवाहिक नैया पार लगेगी या बीच भंवर में डूबेगी .पतवार हाथ से छूटेगी ?अब ऐसी औरतों की शिनाख्त की जा सकेगी जिन्हें ऐसी जींस के चलते संबंधों में प्रतिबद्धताके लिए जूझना पड़ सकता है .सम्बन्धों में पैदा होने वाली दरार देखी  जा सकेगी .
एक कोमन जीन का थोड़ा सा बदला हुआ स्वरूप जिन महिलाओं में देखने को मिला है पहले तो उन्हें सम्बन्ध बनाने किसी से भावात्मक रूप से जुड़ने तालमेल बिठाने में ही दिक्कत पेश आ सकती है लेकिन यदि वह फिर भी विवाह बंधन में बंध जातीं हैं तब सम्बन्ध विच्छेद की संभावना ५० %ज्यादा बढ़ी हुई रहेगी .रोज़ मर्रा के वैवाहिक झगडे आम होंगें .
इनके शोहर भी इनसे नाखुश रूठे रूठे ही दिखलाई दे सकतें हैं .
दरअसल यह जीवन इकाई आपके प्रेम संबंधों का निर्धारण करने वाले 'कडल  हारमोन 'को असर  ग्रस्त  करती  है ,नकारात्मक  रूप में .यह वही  हारमोन है जो गर्भावस्था और स्तन पान की अवधि में इफरात से बनता है और माँ शिशु के बीच कुदरती आत्मीय जुड़ाव की वजह बनता है .प्रेम सम्बन्धों का बैरोमीटर है यह हारमोन .यह जीवन इकाई इस हारमोन के काम करने को गडबडा देती है .क्या कीजिएगा ऐसे में ?
यही वह हारमोन है जो प्रेम की स्नेह की जीवन इकाइयों का पल्लवन करता है पोषण करता है .इसका बदला हुआ स्वरूप सब गुड गोबर कर देता है .
राम राम भाई !  राम राम भाई !
हाज़िर हैं -
नुश्खे सेहत के :        नींद की गोलियों  का चलन इन दिनों बिलाशक बढ़ा है .कितने ही लोगों की नींद इन गोलियों का सिरहाना ढूंढ रही है लेकिन 'Journal BMJ Open ' में  प्रकाशित  एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक़ इन गोलियों का नियमित सेवन जहां  मौत की संभावना को ४.६%बढ़ा रहा है वहीँ इनके अभ्यस्थ(आदी )हो चले लोगों में कैंसर रोग समूह के अपेक्षाकृत ज्यादा मामले दर्ज़ हो रहें हैं .People are relying on sleeping pills more than ever to get a good night's rest , but a new study by Scripps Clinic researchers links the medications to a 4.6 times higher risk of death and a significant increase in cancer cases among regular pill users .The research appears in the journal BMJ Open.
झुर्रियों  और फाइन लाइंस से राहत  :
गाज़र  से   भरपूर  मात्रा में  मिल  जाता  है  बीटा  -केरोटीन.यही वह जादुई तत्व है जो हमें झुर्रियों और फाइन लाइंस से बचाए रह सकता है .खाइए न रोज़ एक गाज़र .पूरे साल मिलती है विलायती गाज़र .
Carrots contain beta-carotene that fights wrinkles and fine lines  .
तुलसी दल :
बस चार तुलसी के ताज़े पत्ते धौ  कर काली मिर्च के साथ चबा लीजिए .कफ में राहत मिलती है .
An effective natural cough remedy is to chew four basil leaves with black pepper.
नुश्खे सेहत के : 

नुश्खे सेहत के :
गुणकारी  किवी :विटामिन ई से भरपूर है किवी .इसमें मौजूद यही विटामिन ई  हमारे शरीर में पाए जाने वाले एक मुख्य प्रोटीन 'कोलैजन' को पराबैगनी विकिरण की मार से नष्ट होने से बचाए रहता है .गौर तलब है कोलैजन पशुओं के शरीर में पाए जाने वाला एक मुख्य तत्व है जो अंगों को जोड़ने और उन्हें आधार देने में सहायक होता है .
  Kiwi has Vitamin E ,Which protects guards against collagen damage caused by UV rays.
चाय  के साथ बस एक दो घूँट नींबू वंशीय फलों के जूस का सेवन चाय में मौजूद कैंसर के खिलाफ असरकारी एंटीओक्सिदेंतो की ज़ज्बी को अस्सी फीसद तक आसान बनाता है .सवाल यह है हमारा शरीर चाय में मौजूद एंटीओक्सिडेंट ज्यादा से ज्यादा ग्रहण करे तो कैसे करे ?
Just a swallow or two of citrus juice with tea can help absorb a whooping 80% of tea's cancer -fighting antioxidents.

19 टिप्‍पणियां:

ASHA BISHT ने कहा…

vighyan har jagah maujood hai...

Kunwar Kusumesh ने कहा…

भई वाह,लव का भी हारमोन.

रविकर ने कहा…

बैरोमीटर प्रेम का, आक्सीटोसिन जाँच ।
होवे दर गर उच्चतर, प्रेम रोग हैं साँच ।

प्रेम रोग हैं साँच, आंच न आने पाए ।
प्रेम मगन मन नाच, जन्म भर साथ निभाए ।

माँ बच्चे के बीच, होय यह सबसे ज्यादा ।
दुग्ध-पान से सींच, पालती खटती मादा ।।



दिनेश की टिप्पणी - आपका लिंक

http://dineshkidillagi.blogspot.in

Naveen Mani Tripathi ने कहा…

bhai bahut achhi jankari mili mai bhi kal lab jakar chek karwaunga ...patni aksar kahati hai tum mujhe pyar kam karate ho.

डॉ टी एस दराल ने कहा…

बड़ा दुःख दीना -- इन हॉर्मोन्स ने !
इनकी कमी भी ख़राब , इनकी ज्यादती भी खराब । :)

यादें....ashok saluja . ने कहा…

दोनों भाई मिल के जाँच करवाते है ....किसका काँटा कहाँ फिट है ..पता चल जायेगा |
मेरे प्रेम का बैरोमीटर तो जरूर बड़ा हुआ है ....?
मुझे तुम से महोब्बत हो गई है ...क्यों :-)))

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत रोचक..चलिये बहुतों की खोज बढ़ी..

Sunil Kumar ने कहा…

नयी और खतरनाक जानकारी ज़िन्दा रहने के लिए एक जाँच और ......

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत बढ़िया!
आनन्द आ गया!

मनोज कुमार ने कहा…

फेरोमोन, हर्मोन से लेकर नींद की गोली तक की यात्रा जानकारी पूर्ण थी।

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

बहुत ही अच्छा लिखा है.....
उम्दा प्रस्तुती!

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आपका ब्लॉग पर आकार मेरे भतीजे दक्ष को जन्मदिन पर शुभकामनाएं और बधाई दी उसके लिए आभारी हूं
"sawai singh "

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

दिक़्कत ये है कि यह हारमोन एक ही तरफ ज़्यादा हो तो मुश्किल होती है ☺☺

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

रोचक......

दिलबाग विर्क ने कहा…

आपकी पोस्ट चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
कृपया पधारें
http://charchamanch.blogspot.com
चर्चा मंच-805:चर्चाकार-दिलबाग विर्क>

SM ने कहा…

love hormone
yes world needs it
good info on vitamin E
nice post

dheerendra ने कहा…

वीरू भाई जी,..मेरा भी घर का नाम "धीरू" है,इसलिए भाई हुए न,लगता है हार्मोन्स हम दोनों एक से है,...
मुझे आज पता चला कि प्यार नापने का थर्मामीटर
हार्मोन्स होते है,....

बहुत अच्छी प्रस्तुति,इस सुंदर रचना के लिए बधाई,...

NEW POST ...काव्यान्जलि ...होली में...
NEW POST ...फुहार....: फागुन लहराया...

Reena Maurya ने कहा…

बहुत ही अच्छी ,रोचक पोस्ट है

संजय भास्कर ने कहा…

नयी जानकारी
होली की आपको और सभी जन को हार्दिक शुभकामनाएँ.