शुक्रवार, 17 फ़रवरी 2012

धूम्रपान हमारे शरीर के लिए एक खलनायक के रूप में सामने आता है

साइनस संक्रमण में एंटीबायोटिक्स की भूमिका कितनी प्रासंगिक ?


साइनस संक्रमण में एंटीबायोटिक्स की भूमिका कितनी प्रासंगिक ?
Sinus trouble ? Antibiotics useless :TIMES TRENDS/THE TIMES OF INDIA ,MUMBAI ,FEB 16,2012/P19.
साइनस संक्रमण में धड़ल्ले से दिए जाने वाले एंटीबायोटिक्स पर सवालिया निशाँ लग गया है ?एक नए अध्ययन के अनुसार साइनस संक्रमण के लक्षणों के शमन के लिए दिए जाने वाले एंटीबायोटिक्स के असर को फ़िज़ूल ,गैर -ज़रूरी ठहराया गया है .माहिरों के अनुसार एक अक्रिय साल्ट वाला प्लेसिबो (छदम दवा या मीठी गोली भी ) साइनस के लक्षणों की उग्रता का शमन करने में उतनी हो कारगर बतलाई गई है .
मरीज़ इन लक्षणों से खुद बा खुद बाहर निकल आता है उबर जाता है .अध्ययन के सह -लेखक (Co-author Jay Piccirillo)यही  राय रखतें हैं .आप आचार्य हैं otolaryngology(नाक ,कान कंठ या गले के रोग निदान और चिकित्सा से सम्बद्ध रोगों की विद्या ) के .वर्तमान में वाशिंगटन विश्वविद्यालय स्कूल ऑफ़ मेडिसन ,सेंट लुइ से सम्बद्ध हैं . बकौल आपके प्राथमिक चिकित्सा के बतौर एंटीबायोटिक्स का चलन ज़रुरत से ज्यादा हो रहा है .इस बात पर Jane M Garbtt भी अपनी मोहर लगातें हैं .
साइनस :नाक से जुडी चेहरे की हड्डियों के बीच की खाली जगह (अश्थी रंध्र ).

Sinus is one of the spaces in the bones of your face that are connected to your nose. A cavity filled with air in the bones of  the face and skull ,especially one opening into the nasal passages.
Otolaryngology:It is a branch of medicine concerned with the treatment and diagnosis of the ear,nose and throat.
राम राम भाई !
टोली बनाकर वजन कम कीजिये :
Work in teams ,weight loss can be contagious/TIMES TRENDS /THE TIMES OF INDIA,MUMBAI ,FEB 16,2012.P19
यकीन  मानिए वेट लोस भी छूतहा होता है .खरबूजे को देखके खरबूजा रंग बदलता है .छूत लगती है तौल घटाने वजन कम करने की .यही लब्बोलुआब है एक नवीन    शोध का जिसमें एक भारतीय मूल के शोध करता (रिसर्चर )भी शरीक हैं .
भारतीय मूल के राजीव कुमार और मिरियम अस्पताल तथा एल्पर्ट मेडिकल स्कूल के सहचिकित्सा - कर्मियों ने पता लगाया है ,टीम आधारित वेट लोस मुकाबले में एक टीम के सभी सदस्यों का वजन तेज़ी से और प्रभावशाली तरीके से कम होता है .टीम के सदस्य एक दूसरे  के लिए प्रेरक सिद्ध होतें हैं .अध्ययन 'ओबेसिटी जर्नल 'में प्रकाशित हुआ है .सभी को समान लाभ होता है .टोली के जिन  साथियों ने सह -भागियों ने अपने संगी साथियों को उद्दीपक बतलाया सबसे ज्यादा वजन भी उन्हीं का कम होते देखा गया .इसका मतलब यह हुआ मोटापे की तरह वेट लोस भी छूतहा  होता है एक टोली के सभी सदस्यों पर अपना रंग

13 टिप्‍पणियां:

मनोज कुमार ने कहा…

अच्छा स्वास्थ्य बुलेटिन।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

अच्छा है, बचे हुये हैं।

डा. अरुणा कपूर. ने कहा…

बहुत जरूरी और बढ़िया जानकारी आपने उपलब्ध कराई है...धन्यवाद!

यादें....ashok saluja . ने कहा…

इस उम्र में दोनों जानकारियां हौंसला बढाने वाली हैं!
आभार आपका !
राम-राम वीरू भाई !

डॉ टी एस दराल ने कहा…

एक्यूट साइनुसाईटिस में एंटीबायोटिक्स लाभदायक रहती हैं । लेकिन क्रोनिक फॉर्म में ज्यादा फायदा नहीं होता । इसमें भाप लेने से बहुत लाभ होता है ।

Reena Maurya ने कहा…

बहुत ही बढ़िया जानकारी:-)

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
--
कल शाम से नेट की समस्या से जूझ रहा था। इसलिए कहीं कमेंट करने भी नहीं जा सका। अब नेट चला है तो आपके ब्लॉग पर पहुँचा हूँ!
--
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार के चर्चा मंच पर भी की गई है!
सूचनार्थ!

Arvind Mishra ने कहा…

ज्ञान का खजाना इसी तरह बाटते चलिए ..और भी बरक्कत होगी ....

डॉ0 ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Dr. Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

उपयोगी जानकारियां।

------
क्‍या आप टाइगर मम्‍मी हैं?
रितुमाला: अनचाहे गर्भ से बचने का प्राकृतिक उपाय।

Rakesh Kumar ने कहा…

आपकी जानकारी और
डॉ.दराल जी की सलाह
दोनों ही उपयोगी लगती है.
धूम्रपान से तो हर हाल में ही
बचना चाहिये.

समय निकाल कर मेरे ब्लॉग पर
आईएगा वीरू भाई.

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति... राह दिखाती हुई...
सादर आभार.

दिगम्बर नासवा ने कहा…

तो मतलब साइनस की नो दवाई ... अछे जानकारी है ...

Lokesh ने कहा…

अच्छा लेख है , इसलिए हम लोगो ने प्राकृतिक गन्ने से और प्राकृतिक तरीकेसे गुल बनाया है
www.naturaljaggery.com