बुधवार, 2 मार्च 2016

सैकुलर गैंग के शौकि भैया , डिग्री डिलीट के लौटैया , कहाँ गए ,तुम कहाँ गए।

                         सैकुलर गैंग के शौकि भैया -डॉ. नन्द लाल मेहता 'वागीश '
                                                                              
                                                              - प्रोफ़ेसर वीरेंद्र शर्मा (वीरुभाई )

सैकुलर गैंग के शौकि भैया ,

डिग्री डिलीट के  लौटैया ,

कहाँ गए ,तुम कहाँ गए। 
           
            (१)

पद प्रभाव से लीन्ही डिग्री ,

बिना पात्रता चीनी डिग्री ,

भीतर की छलभीनी डिग्री ,

राजखुले तो निंदा होगी ,

शोकाकुल डिग्री  लौटैया ,

अभिव्यक्ति के बीन बजैया ,

पूछ रहें हैं उमर  कन्हैया ,

कहाँ गए तुम कहाँ गए। 

       (२) 

चैनलियों संग ता ता थैया ,

रात दिनन की जुबाँ लड़इया ,

लिटफेस्टों के हो  रचवैया 

नामवरी पुरूस्कार लौटइया,

पोएट्री के चस्क पिवैया ,

अभिव्यक्ति के गगन उड़ैया ,

पूछ रहे सब चेले चाटे ,

कहाँ गए तुम कहाँ गए। 

डॉ. वागीश मेहता,

१२१८ ,सेकटर चार ,अर्बन इस्टेट ,

गुडगाँव (हरयाणा )

वीरेन्द्र शर्मा ,५१ ,१३१ ,अपलैंडव्यू ,कैन्टन (मिशिगन ) 

1 टिप्पणी:

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी ने कहा…

बेहतरीन अभिव्यक्ति.....बहुत बहुत बधाई.....